6 पोषक पदार्थ जो स्तंभन दोष से लड़ते हैं

By | October 22, 2018

माफ करना दोस्तों: स्तंभन दोष को ठीक करने के लिए कोई रामबाण औषधि नहीं है। लेकिन ऐसे प्रमाण जरूर मौजूद हैं कि कुछ खाने की चीजों से मदद मिलती है।

“स्तंभन दोष में खाने की कुछ चीजों से होने वाले लाभ नाड़ी से संबन्धित हैं,” ऐसा मानना है सुभाष गिरि, एमडी का, जो क्लीवलैंड, अमेरिका की केस वेस्टर्न रिजर्व यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन एंड यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल केस मेडिकल सेंटर के डिपार्टमेंट ऑफ यूरोलॉजी में प्रोफेसर और चेयरमैन हैं। “स्तंभन दोष आम तौर पर तब उत्पन्न होते हैं जब लिंग में रक्त का प्रवाह ठीक से न हो रहा हो, इसलिए खाने की ऐसी चीजें जो नाड़ी प्रणाली पर प्रभाव डालती हैं, स्तंभन दोष रोक सकती हैं” तो क्या आपको इन पोषक तत्वों वाली खाने की चीजें ज़्यादा खानी चाहिए?

हरी पत्तेदार सब्जियाँ और चुकंदर में नाइट्रेट

सेलेरी और पालक जैसी हरी पत्तेदार सब्जियों से रक्त प्रवाह बढ़ जाता है क्योंकि इनमें प्रचुर मात्रा में नाइट्रेट होते हैं। चुकंदर के रस में प्रचुर मात्रा में नाइट्रेट पाए जाते हैं। नाइट्रेट धमनियों को चौड़ा करते हैं जिससे रक्त की नसें खुल जाती हैं और रक्त प्रवाह तेज हो जाता है। अमेरिका के यूएस फूड एंड ड्रग एड्मिनिसट्रेशन द्वारा 1989 में इसकी पहली दवा की अनुमति देने के पहले स्तंभन दोष पर नाइट्रेट के लाभों के बारे में कई केस रिपोर्ट प्रकाशित की जा चुकी हैं। आज उपयोग में आने वाली स्तंभन दोष की दवाएं लिंग में रक्त प्रवाहित करने वाली नसों को रिलैक्स करने के प्रभाव पर आधारित होती हैं।

डार्क चॉक्लेट में फ्लेवेनोइड

डार्क चॉक्लेट में फ्लेवेनोइड

सर्कुलेशन नाम के शोध पत्र में किए गए एक हाल के शोध में पाया गया कि डार्क चॉक्लेट में पाए जाने वाले फ्लेवेनोइड रक्त प्रवाह बेहतर कर सकते हैं। यदि स्तंभन दोष खराब रक्त प्रवाह के कारण हो रहा हो तो इनसे फायदा हो सकता है। फ्लेवेनोइड ऐसे प्राकृतिक एंटी-ऑक्सीडेंट हैं जो पौधों को विषैले पदार्थों से बचते हैं और इन्सानों पर भी इनका ऐसा ही असर होता है। ये रक्तचाप कम करके कॉलेस्ट्रोल कम कर सकते हैं जो स्तंभन दोष में योगदान देते हैं।

पिस्तों में प्रोटीन

स्तंभन दोष से ग्रस्त पुरुषों पर हाल ही में किए गए एक शोध में पाया गया कि तीन हफ्ते तक रोज पिस्ते खाने वाले पुरुषों को सेक्स मुद्दों जैसे स्तंभन दोष, कामेच्छा और सम्पूर्ण सेक्स संतुष्टि में काफी सुधार देखने को मिला। स्तंभन की समस्याओं के लिए पिस्ता के लाभ आर्जिनिन नाम के प्रोटीन के कारण हो सकते हैं जिससे रक्त धमनियाँ रिलैक्स हो जाती हैं। “यह इस तथ्य का एक और उदाहरण है कि अच्छा रक्त प्रवाह सेक्स स्वास्थ्य बेहतर कर सकता है और यह बड़ी अच्छी खबर है क्योंकि मैं पिस्ते बहुत खाता हूँ,” यह कहना है डॉ गिरि का।

घोंघों और अन्य कवचधारी मछलियों में जस्ता

घोंघों को हमेशा से कामोद्दीपक माना गया है। इसका एक कारण यह है कि घोंघों में खनिज रूप में जस्ता प्रचुर मात्रा में होता है जो पुरुष हॉरमोन टेस्टोस्टेरोन के उत्पादन में मुख्य भूमिका अदा करता है। टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम होने से स्तंभन दोष हो सकता है। अमेरिकन केमिकल सोसाइटी में किए गए शोध में एक और रिश्ता सामने आया है: कच्ची कवचधारी मछली में ऐसे यौगिक पाए जाते हैं जो पुरुष और महिला दोनों में सेक्स हॉरमोन का स्त्राव उत्प्रेरित करते हैं।

तरबूज में एंटीऑक्सीडेंट

कुछ शोध दर्शाते हैं कि तरबूज से स्तंभन दोष में ऐसा ही लाभ मिल सकता है जैसा स्तंभन दोष की दवा वायग्रा से होता है और यह कामेच्छा बढ़ा सकता है। तरबूज में प्रचुर मात्रा में फाइटोन्यूट्रीएंट्स नामक लाभकारी घटक पाए जाते हैं। फाइटोन्यूट्रीएंट्स एंटीऑक्सीडेंट भी होते हैं। इनका एक लाभ यह होता है कि ये स्तंभन लाने वाली धमनियों को रिलैक्स कर देते हैं। हालांकि तरबूज में 92 प्रतिशत पानी ही होता है, लेकिन बाकी 8 प्रतिशत आपके हृदय और सेक्स आनंद के लिए जादू कर सकता है।

गुलाबी चकोतरे और टमाटर में लाइकोपीन

गुलाबी चकोतरे और टमाटर में लाइकोपीन

लाइकोपीन उन फाइटोन्यूट्रीएंट्स में से एक है जो रक्त प्रवाह के लिए अच्छे होते हैं जिससे सेक्स मुद्दे सुलझते हैं। लाइकोपीन गहरे लाल रंग के फलों जैसे टमाटर और गुलाबी चकोतरों में पाया जाता है। कुछ शोध दर्शाते हैं कि लाइकोपीन शरीर में सबसे अच्छे से तब अवशोषित होता है जब इसे तैलीय फलों जैसे आवोकाडो और ऑलिव ऑइल के साथ लिया जाए। इसलिए अपने लिए स्तंभन दोष से लड़ने वाली सलाद बना कर जरूर खाएं। शोध दर्शाते हैं कि लाइकोपीन जैसे एंटीऑक्सीडेंट नामर्दी और प्रोस्टेट कैंसर जैसी बीमारियों से लड़ सकते हैं।

भोजन और स्तंभन दोष: मुख्य बातें

गिरी के अनुसार, “आपके लिए सबसे बढ़िया तो यही होगा कि आप ऐसा खाना खाएं जो आपके हृदय और रक्त प्रवाह के लिए अच्छा हो। “आपके रक्त प्रवाह के लिए लाभकारी खाने की अन्य चीजों में शामिल हैं क्रेनबेरी, सेब, मूँगफली, प्याज, चाय और रेड वाइन। संभावना तो इस बात की अधिक है कि यदि आप अपनी रक्त धमनियों के स्वास्थ्य की देखभाल कर लेंगे तो स्तंभन दोष उत्पन्न करने वाली कई कारण अपने आप दूर हो जाएंगे।

6 पोषक पदार्थ जो स्तंभन दोष से लड़ते हैं
Rate this post

संबंधित पोस्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *