Green Coffee पीने के फायदे

By | May 16, 2018
Green Coffee पीने के फायदे

About DR. RICHA AHUJA

Physical Health And Behavioural Sciences

कॉफी पूरी दुनिया में पसंद की जाती है। कॉफी के मुख्यतः दो प्रकार होते हैं अरेबिका – जो ज़्यादा लोकप्रिय है और रोबस्ता – जो बहुत कड़क होती है। कॉफी काली/कत्थई या ग्रीन कॉफी के रूप में मिलती है। कॉफी पीने के लाभ दोनों तरह की कॉफियों से मिलते हैं।

कॉफी पीने के लाभ

कॉफी पीने के कई लाभ होते हैं:

  • ऊर्जा का संचार

वैज्ञानिक शोधों ने प्रमाणित किया है कि कॉफी पीने से मस्तिष्क के क्रियाकलाप बेहतर हो जाते हैं क्योकि कॉफी के पदार्थों की जैविक प्रक्रियाओं से ऊर्जा स्तर, मूड, चेतना आदि अच्छे होते हैं।

grecobe green coffee

  • ग्रीन कॉफी से दुबले होना

आजकल मोटापा एक आम समस्या बन गया है। ग्रीन कॉफी फलियों में पाए जाने वाले क्लोरोजेनिक एसिड से शरीर की फैटी एसिड प्रोफाइल मेनटेन रहती है क्योंकि वसा तेजी से ऊर्जा में बदलने लगती है। इस तरह, शरीर में जमा वसा दूर हो जाती है जिससे वजन घटने लगता है।

Weight loss Green coffee

  •  ग्रीन कॉफी से मधुमेह कम होता है

कॉफी पीने का एक और फायदा है टाइप 2 मधुमेह विकसित होने की रोकथाम होना। ग्रीन कॉफी फलियों में पाए जाने वाले क्लोरोजेनिक एसिड से खून में ग्लूकोज की मात्रा कम होती है जिससे मधुमेह का खतरा कम हो जाता है। इसी तरह, नियमित रूप से ग्रीन कॉफी लेने से, खास कर दिन में 2 बार लेने से आपके शरीर को क्लोरोजेनिक एसिड मिलता है जिससे टाइप 2 मधुमेह का जोखिम कम हो जाता है।

Diabetes Prevention

  • पार्किंसन्स डीसीज में ग्रीन कॉफी पीने की लाभ

पार्किंसंस डीसीज एक न्यूरोडीजेनेरटिव बीमारी है जिसमें हमारे शरीर का न्यूरो-मोटर सिस्टम नष्ट हो जाता है। ग्रीन कॉफी फलियों में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट इस बीमारी से ग्रस्त लोगों के लिए बहुत लाभप्रद होते हैं।

parkinsons prevention

  • लीवर की बीमारियों में ग्रीन कॉफी की फायदे

कॉफी पीने का लीवर की बीमारी से ग्रस्त लोगों को भी बहुत लाभ होता है। इससे लीवर को नुक्सान पहुँचने की संभावना कम हो जाती है क्योंकि ग्रीन कॉफी में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट (जैसे क्लोरोजेनिक एसिड) लीवर में से विषैले पदार्थ बाहर कर देते हैं। नियमित रूप से शरीर से जहरीले पदार्थ बाहर निकलते रहने से लीवर को नुक्सान नहीं पहुँचता और लीवर कैंसर की भी रोकथाम होती है।

  • ग्रीन कॉफी फलियों का सत्त

कॉफी बनाने के लिए चुनी गई ग्रीन कॉफी फलियों से ही ग्रीन कॉफी एक्सट्रैक्ट (सत्त) बनाया जाता है जिससे भी आप ग्रीन कॉफी या उसके सप्लिमेंट्स तैयार कर सकते हैं। ग्रीन कॉफी फलियों के सत्त का सबसे सक्रिय जैविक अवयव होता है क्लोरोजेनिक एसिड। यह घटक ही कॉफी पीने या इसके सप्लिमेंट्स लेने से होने वाले ज़्यादातर लाभों के लिए उत्तरदायी होता है। ग्रीन कॉफी फलियों में पाए जाने वाले क्लोरोजेनिक एसिड का प्रतिशत उसे बनाने की प्रक्रिया पर निर्भर करता है।

  • ग्रीन कॉफी की कीमत

Type of Green Coffee

आम आदमी के लिए ग्रीन कॉफी बहुत किफ़ायती है। यह आप खुद भी देख सकते हैं क्योंकि ग्रीन कॉफी ज़्यादातर लोगों के बजट में आसानी से आ सकती है। बीमारियों के इलाज में दवाई और डॉक्टरों पर पैसा खर्च करने की जगह आज इस किफ़ायती पेय, ग्रीन कॉफी को पीना कहीं ज़्यादा सस्ता है क्योंकि इससे आपको कॉफी के सारे लाभ मिल जाते हैं। इसलिए शरीर के लिए इस किफ़ायती और जैविक रूप से लाभप्रद पेय को पीने से बेहतर और क्या हो सकता है?

काली और ग्रीन कॉफी दोनों से ही कॉफी के लाभ मिलते हैं। तो फिर ग्रीन कॉफी क्यों चुनी जाए। काली कॉफी में पाए जाने वाले कैफीन से जोखिम होता है। कैफ़ीन कई परिस्थितियों में तो लाभप्रद होता है लेकिन कई जगह खतरनाक हो जाता है। कॉफी को भूनकर उसका हरा रंग कला/कत्थई हो जाने से उसके लाभप्रद अवयव नष्ट हो जाते हैं। ग्रीन कॉफी साफ और धुली हुई कॉफी फलियों से बनाई जाती है जिसमें कॉफी के सभी लाभप्रद जैविक अवयव जैसे क्लोरोजेनिक एसिड आदि उपलब्ध रहते हैं। कॉफी पीने के लाभ पाने के लिए आपको गर्म या ठंडी कैसी भी ग्रीन कॉफी पी सकते हैं। ग्रीन कॉफी में विभिन्नता उसे बनाने के तरीके से आती है। लोग अपनी पसंद के अनुसार ग्रीन कॉफी तैयार करते हैं।

  • एक प्रकार की ग्रीन कॉफी जिसे साबुत फलियों से तैयार किया जाता है
  • एक प्रकार की ग्रीन कॉफी फलियों के सत्त (तरल) से तैयार किया जाता है
  • एक प्रकार की ग्रीन कॉफी जिसे ग्रीन कॉफी फलियों के पाउडर से तैयार किया जाता है

ऊपर बताई गई हर प्रकार की कॉफी पीने से कॉफी के पूरे लाभ मिलते हैं।

Buy Green Coffee

 

Green Coffee पीने के फायदे
3 (60%) 1 vote

संबंधित पोस्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *