Green Coffee कैसे उपयोग करें

By | May 16, 2018
Green Coffee कैसे उपयोग करें

About DR. RICHA AHUJA

Physical Health And Behavioural Sciences

कॉफी एक बहुत अनोखा पेय है। अधिकतर लोग कॉफी ऊर्जा और सक्रियता पाने के लिए पीते हैं ताकि वे लगातार क्रियाकलापों को जारी रख सकें, खासकर ऐसे क्रियाकलाप जिनके लिए तरो-ताजा दिमाग की जरूरत होती है। ऐसे फ़ायदों के कारण कॉफी का उपयोग भी काफी बढ़ जाता है जिसके कारण कॉफी का उत्पादन भी बहुत है।

ग्रीन कॉफी कैसे उपयोग करें और यदि काली और कत्थई कॉफी की जगह ग्रीन कॉफी लें तो क्या होगा?

ग्रीन कॉफी काली और कत्थई कॉफी की तुलना में बहुत ज़्यादा फायदे दे सकती है। ग्रीन कॉफी को हरी कॉफी फलियों के पाउडर से बनाया जाता है। इसे इसमें पाए जाने वाले जैविक रूप से सक्रिय पदार्थों के कारण ज़्यादा लाभप्रद माना जाता है जो काली या कत्थई कॉफी में नहीं पाए जाते। काली कॉफी में ये जैविक पदार्थ निष्क्रिय हो जाते हैं क्योंकि कॉफी भुनी हुई होती है।

ग्रीन कॉफी स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभप्रद होती है क्योंकि इसमें क्लोरोजेनिक एसिड पाया जाता है। क्लोरोजेनिक एसिड अलग-अलग ब्रांड की कॉफी में अलग-अलग मात्रा में पाया जाता है। जब कोई आदमी ग्रीन कॉफी लेना शुरू करने का फैसला करता है तो उसके सामने एक और प्रश्न आता है।green coffee grano

ग्रीन कॉफी कैसे लेते हैं?

ग्रीन कॉफी को एक पेय की तरह लिया जा सकता है। कॉफी कैसे लेना है यह आपकी अपनी पसंद पर निर्भर करता है। ग्रीन कॉफी को तैयार करने के लिए आपको कॉफी की फलियाँ/कॉफी का पाउडर, पानी (उबलता हुआ या गर्म) और शक्कर (जरूरत के अनुसार) की आवश्यकता होती है। ग्रीन कॉफी को नीचे बताए अनुसार तैयार किया जा सकता है:

साबुत ग्रीन कॉफी फलियाँ

  •  ग्रीन कॉफी को बहते में धुली हुई साबुत कॉफी फलियों से तैयार किया जा  सकता है।
  •  एक पैन में पानी लें और उसे उबाल लें, अब इसमें धुली ग्रीन कॉफी फलियाँ मिलाएँ।
  • इसके बाद फलियों को पानी में तब तक उबालें जब तक पानी का रंग हरा न हो जाए।
  • अब एक महीन छन्नी से कॉफी छान कर कप में ले लें और आनंद लें।

पीसी हुई ग्रीन कॉफी फलियाँ

  • यदि आपके पास खालिस ग्रीन कॉफी फलियाँ उपलब्ध हों तो इनसे सबसे अच्छी कॉफी तैयार होती है क्योंकि कॉफी की शुद्धता ज़्यादा होती है। फलियों को पहले धोकर पूरी तरह सुखा लें।
  • अब ग्रीन कॉफी फलियों को एक मिक्सी में पीस लें। इसके लिए थोड़ी शक्तिशाली मिक्सी की जरूरत होती है क्योंकि कच्ची फलियाँ बहुत कड़ी होती हैं।
  •  इसके बाद पाउडर को एक महीन कपड़े से छानकर बड़े टुकड़े अलग कर दें।
  •  अब इस पाउडर को पानी की मापी हुई मात्रा में डालें और मिक्सचर को उबाल लें।
  •  इसके बाद जब पानी का रंग हरा होने लगे (जो दर्शाता है कि ग्रीन कॉफी फलियाँ पानी में ठीक से घुलने लगी हैं), तो इसे एक छलनी से छानकर कप में ले लें और कॉफी की तरह पिएँ।

ग्रीन कॉफी फलियों का पाउडर

  • घर पर ग्रीन कॉफी का पाउडर तैयार करना काफी कठिन हो सकता है और इसमें समय भी लगता है। इसलिए इसे बाज़ार से खरीदना बेहतर होता है।
  • ग्रीन कॉफी फलियों के पाउडर के मापे हुए कप की मात्रा लें और इसे उबलते पानी में मिला दें।
  • मिक्सचर को कम से कम 10-12 मिनट के लिए हल्की आँच पर उबालें।
  • अब गैस बंद करके मिक्सचर को छानकर एक कप में भर लें।
  • यदि कॉफी ज़्यादा बन गई हो तो इसे काँच के बर्तन में रखकर फ्रिज में बाद में पीने के लिए रख सकते हैं।

 ग्रीन कॉफी को उपयोग करने के तरीके

green coffee grano

Official site Green Coffee

ग्रीन कॉफी को कॉफी पाउडर बना कर भी लिया जा सकता है। इसके सैशे जरूरत के अनुसार गर्म पानी में मिला सकते हैं।

यह वैज्ञानिक रूप से प्रमाणित है कि ग्रीन कॉफी में पाया जाने वाला क्लोरोजेनिक एसिड बहुत कम समय में शरीर पतला कर देता है। ग्रीन कॉफी के कुछ अन्य लाभ निम्नानुसार हैं:

  •  वजन कम हो जाना
  •  रक्तचाप नियंत्रण
  • मधुमेह प्रबंधन
  • डिप्रेशन कम हो जाना
  • पेट भरा हुआ लगना
  • एंटीऑक्सीडेंट क्रिया

काली या कत्थई कॉफी में ये लाभ नहीं होते क्योंकि इनमें क्लोरोजेनिक एसिड नहीं पाया जाता। इसलिए ग्रीन कॉफी आज से ही लेना शुरू करें!

Green Coffee कैसे उपयोग करें
3 (60%) 4 votes

संबंधित पोस्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *