लिंग वृद्धि व्यायाम

By | May 16, 2018
लिंग वृद्धि व्यायाम

About DR. RICHA AHUJA

Physical Health And Behavioural Sciences

लिंग के आकार को बढ़ाने के लिए व्यायाम

लिंग को बढ़ाने के लिए व्यायाम कई मौज़ूदा तकनीकों में से एक हैं जिनका उपयोग आप अपने लिंग के आकार को प्राकृतिक रूप से बढ़ाने के लिए कर सकते हैं, और हालांकि यह सबसे आसान तरीका नहीं हैं, लेकिन सबसे सस्ता जरूर है. यदि आप कुछ महीनों तक धैर्य से व्यायामों को करते रहें तो आपको अच्छे स्थायी परिणाम प्राप्त हो सकते हैं.

जैसा कि आप जानते ही होंगे कि इन अभ्यासों का उद्देश्य मोटाई और लंबाई दोनों को ही बढ़ाना होता है. लिंग मुख्य रूप से मांसपेशी ऊतक से बना होता है और यह अन्य मांसपेशियों की तरह नहीं होता है, अभ्यास से आप इसके आकार में वृद्धि कर सकते हैं.

ताकत से सम्बंधित अभ्यासों से, आमतौर पर इसे स्ट्रेचिंग के रूप में जाना जाता है, कॉर्परा कावर्नोसा खिच जाती है जिससे इसके रंध्रमय ऊतकों में रक्त प्रवाह अधिक हो जाता है. यह अभ्यास कोशिकाओं के आकार में वृद्धि करता है, साथ ही साथ इनकी विभाजन प्रक्रिया को भी प्रोत्साहित करता है.

Exercises to Increase your Penis Size

याद रखें कि दबाव लगाकर, लिंग को खींचने और दबाने से आप एक ऐसी शक्ति बना सकते हैं जो कोशिकाओं को विभाजित कर देगी, लेकिन इन अभ्यासों को ढीले लिंग पर ही किया जाना चाहिएलिंग में विकास विश्राम के दौरान होता है, न कि जब आप व्यायाम कर रहे हों.

यह जानना महत्वपूर्ण है कि परिणामों को मूर्त रूप देने के लिए, नई कोशिकाओं के साथसाथ जिन कोशिकाओं को फैलाया गया है, उन्हें रक्त से भी भरा होना चाहिए, ताकि वे वास्तविकता में बड़ी हो सकें. इसे प्राप्त करने के लिए, एक अच्छे लिंग वृद्धि सप्लीमेंट के उपयोग की सलाह दी जाती है, जो रक्त प्रवाह कोउत्तेजितकरता है.

यद्यपि पूरक का उपयोग अनिवार्य नहीं होता है, लेकिन अगर आप प्रतिदिन एक अच्छे सप्लीमेंट का उपयोग करते हैं तो वृद्धि अधिक होगी और अभ्यास के समय को आधे से भी कम किया जा सकता है.

साथ ही, ध्यान दें कि अभ्यास को ज़बरदस्ती करने से खराब उपचार हो सकता है, जिसके परिणामस्वरूप आपके लिंग में गड़बड़ी आ सकती है. इसी कारण से, हमारी यही सलाह है कि: अधिक अभ्यास करें! हम आपको चेतावनी देना चाहते हैं कि लिंग वृद्धि के किसी भी अभ्यास का असर धीरेधीरे होता है, क्योंकि लिंग अन्य मांसपेशियों की तरह व्यायाम से प्रतिक्रिया नहीं देता है.

आइए कुछ अभ्यासों को चित्रित करें, ताकि आप अपने अनुसार उन्हें चुन सकें. ध्यान दें कि केवल अभ्यास ही आपके लिंग को बढ़ाने का एकमात्र तरीका नहीं है, और यह सबसे आसान तरीका भी नहीं है, और याद रखें कि अभ्यासों को अन्य तरीकों के साथ किया जा सकता है या परिणाम की गति को बढ़ाने के लिए साथ में सप्लीमेंट का सेवन भी किया जा सकता है.

लिंग वृद्धि व्यायाम वार्मिंग अप

लिंग वृद्धि व्यायाम

लिंग को बढ़ाने के लिए अपने दैनिक अभ्यास की शुरुआत इसी से करें. यह एक अभ्यास न होकर, रक्त परिसंचरण को बढ़ाने के लिए और त्वचा को अधिक लोचदार बनाने के लिए वार्म अप है.

गर्म पानी में एक तौलिया को गीला करें, अतिरिक्त पानी को निकाल दें और इसे लगभग एक मिनट तक लिंग के चारों ओर लपेटे रहें. इस प्रक्रिया को दो से तीन बार दोहराएं और फिर लिंग को पोछ लें.

दूसरे चरण में एक अच्छी क्रीम या अच्छे उत्तेजक लुब्रिकेंट को जैसे प्रोसोल्यूशन जेल को लगायें, जिससे घर्षण न हो और आपकी त्वचा को चोट (दर्द का कारण बन सकती है) न पहुंचे, चोट से बचें और हल्के – हल्के, कोमल ढ़ंग से वार्म अप करें. इसके अलावा, यह क्रीम (प्रोसोल्यूशन जेल) भी विकास में मदद करती है. यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण कदम है इसलिए इसे अनदेखा नहीं करना चाहिए क्योंकि इसका उद्देश्य अभ्यास के दौरान होने वालें घावों से लिंग को बचाना है.

लिंग वृद्धि व्यायाम लिंग स्ट्रेचिंग

 लिंग स्ट्रेचिंग

इस व्यायाम का उद्देश्य लिंग को बड़ा और लंबा बनाना है और यह सबसे महत्वपूर्ण कार्यों में से एक है. यदि आप वास्तव में अपने लिंग को बड़ा करना चाहते हैं तो यह एक सिद्ध तकनीक है. इसे आप खड़े हो कर या बैठे हुए कर सकते हैं, इस दौरान आपका लिंग ढीला या हल्का कड़ा होना चाहिए.

यदि आपका लिंग पूरी तरह से कड़ा है तो यह व्यायाम बेकार साबित होगा, कॉर्परा कावर्नोसा के कड़ेपन से स्ट्रेचिंग का कोई भी असर नहीं होता है.

कसी हुई बंद मुट्ठी से, लिंग को खीचकर नीचे पकड़े रहें, जब तक आप कुछ दबाव महसूस करें (दर्द के बिना) उसके बाद अपने हाथ को लिंग के टोपे की तरफ़ धीरे-धीरे खिसका दें. इसे हल्के-हल्के करें, लिंग के नीचे से ऊपर तक पहुचने में से १० सेकंड का समय लें. फिर जितना संभव हो सके लिंग को कुछ सेकंड के लिए उसी खिचाव वाली स्थिति में रोके रखें, ध्यान रखें कि दर्द न होने पाए.

फिर लिंग को छोड़े बगैर दूसरे हाथ से फिर से व्यायाम को दोहराएं, लिंग को फिर से नीचे से लेकर ऊपर टोपे तक खीचें. इस व्यायाम को कई बार दोहराएं, हाथों को बदलते रहेंएक हाथ से टोपे से खिचाव बनाए रखें, वहीं दूसरे हाथ से इसे नीचे से ऊपर की तरफ़ खीचते रहें. कल्पना कीजिए कि आप किसी रस्सी को खींच रहे हैं, आपको लिंग के साथ भी एकदम वैसे ही करना है.

इसे कम से कम १० बार करें, इस दौरान लिंग को कुछ देर के लिए आराम भी दें. १० से शुरू करते हुए आपको हर सप्ताह अभ्यास की संख्या को बढ़ाना है, जब तक कि आप ५० तक न पहुँच जाएँ. प्रत्येक सप्ताह आपको व्यायाम की संख्या, प्रत्येक चरण का समय बढ़ाना चाहिए, समय को अधिकतम ३० मिनट तक बढ़ायें.

लिंग वृद्धि व्यायाम साइड टू साइड स्ट्रेच

साइड टू साइड स्ट्रेच

इस व्यायाम को इससे पहले के व्यायाम के संयोजन में किया जाना चाहिए, तुरंत बाद में, और लिंग को नीचे से खीचना चाहिए. इसका उद्देश्य लिंग के आधार की मांसपेशियों को व्यायाम कराना और खीचना है, ताकि इसका आकार बढ़ सके (लंबा बन सके).

अपने हाथों से दृढ़तापूर्वक टोपे को पकड़कर, लिंग को एक तरफ खींचेंउस समय आपको लिंग के निचले हिस्से में विपरीत तरफ खिंचाव महसूस होगा. १० से १५ सेकंड के लिए बल लगाते रहें. अब दूसरी तरफ भी ऐसा ही करें.

इस अभ्यास को प्रत्येक दिशा में, बाएं, दाएं, ऊपर और नीचे, कुल २० बार करना चाहिए, अर्थात ५ बार एक तरफ़. चार चरणों की श्रृंखला को पूरा करने के बाद, इसे फिर से दोहरायें, लिंग को आगे खींचें, और धीरेधीरे गोल – गोल घुमाएं, जिससे लिंग के आधार की सभी मांसपेशियों तक इस अभ्यास का असर पहुच सके.

अपने लिंग को बहुत ज्यादा खीचें. अपने लक्ष्य तक पहुंचने के लिए जितना समय चाहिए उतना समय लें. जल्दबाजी करने से आपको अवांछित चोटों का सामना करना पड़ सकता है.

लिंग वृद्धि व्यायाम मोटाई बढ़ाने के लिए जेलकिंग

मोटाई बढ़ाने के लिए जेलकिंग

इस जेललिंग स्ट्रेचिंग व्यायाम का उद्देश्य रंध्रमय ऊतकों में रक्त के तनाव को बढ़ाना है साथ ही साथ नव निर्मित ऊतकों और पहले के रंध्रमय ऊतकों के आकार को बढ़ाना है. इस व्यायाम से कॉर्परा कावर्नोसा का आकार बढ़ेगा ताकि लिंग के कड़े होने पर यह अधिक रक्त को ख़ुद में संग्रहित कर सके. यह लिंग में रक्त को भरता है, रक्त को वहीं बनाए रखता है, उसके बाद और अधिक रक्त को प्रवाहित करता है, जिससे दबाव के चलते लिंग की लम्बाई और मोटाई में वृद्धि होती है.

ध्यान दें कि इस अभ्यास को लिंग के ढीले होने पर नहीं किया जा सकता है, और न ही इसे पूरी तरह से कड़े लिंग पर किया जा सकता है. लिंग १००% कड़ा न होकर ६०% से ७०% के बीच कड़ा होना चाहिए. यदि लिंग पूरी तरह से कड़ा है या पूरी तरह से ढीला है तो इस अभ्यास का कोई भी प्रभाव नहीं पड़ेगा, लिंग को आधे कड़ेपन से थोड़ा सा अधिक कड़ा होना चाहिए और जैसा कि वार्मिंग अप टॉपिक में बताया गया, आपको किसी लुब्रिकेंट का भी इस्तेमाल करना चाहिए.

मोटाई बढ़ाने के लिए जेलकिंग

यह व्यायाम लिंग के आकार को बढ़ाने के लिए पिछले व्यायाम के समान ही है, लेकिन यहां इस व्यायाम का लक्ष्य लिंग को खींचने के बजाय लिंग में रक्त के प्रवाह को बढ़ाना है. लिंग के निचले हिस्से को अपने अंगूठे और इंडेक्स फिंगर से रिंग बनाकर पकड़ लें, हथेली को आगे की तरफ़ रखें. बिना दर्द के जितना संभव हो सके उतना रिंग को कस लें और फिर धीरेधीरे लिंग को निचोड़ें, रिंग को नीचे से सिर तक कस कर सरकाते हुए लायें.

यह प्रक्रिया आधे कड़े लिंग में मौज़ूद रक्त को केवल पीछे की तरफ छोड़कर सभी दिशाओं में दबाव डालने के लिए मज़बूर करती है, इस अभ्यास से कॉर्परा कावर्नोसा में रक्त भर जायेगा. जैसे ही एक हाथ सिर तक पहुंचता है, तब तक दूसरा हाथ अभ्यास को दोहराने के लिए पहले से ही तैयार होना चाहिए.

 

जो लोग पहली बार इस लिंग बढ़ाने के अभ्यास को कर रहे हैं, उनके लिए हम अधिकतम पांच मिनट की अनुशंसा करते हैं, जिसे धीरेधीरे छह सप्ताह के भीतर २० मिनट तक बढ़ाया जाना चाहिए.

याद रखें कि आपका लिंग लगभग ७०% कड़ा होना चाहिए. यदि आप अधिक कड़ेपन को महसूस करना शुरू करते हैं या आप चरमोत्कर्ष को महसूस करते हैं, तो जब तक आप शांत न हो जाएँ तब तक व्यायाम को रोके रहें, और फिर से शुरू करें. सभी अभ्यासों की तरह, इसे भी आपकी आवश्यकताओं के अनुरूप परिवर्तित कर लेना चाहिए. केवल आप ही इस बात का सही आंकलन कर सकते हैं कि कितने दबाब से बिना किसी साइड इफेक्ट्स के आपको इच्छित परिणाम प्राप्त हो जायेंगे.

एक बार जेलकिंग हो जाए, उसके बाद आपका लिंग आधे घंटे या उससे अधिक देरी के लिए लाल या सूजा हुआ हो सकता है, जो कि सामान्य है. आप अन्य दुष्प्रभावों को भी महसूस कर सकते हैं, जैसे अस्थायी सूजन और टोपे पर लाल धब्बे, जो छोटी रक्त वाहिकाओं के फूटने का संकेत देते हैं. आपको इन चिन्हों के लिए चिंता करने की ज़रूरत नहीं है, क्योंकि ये व्यायाम की तीव्रता का प्रभाव है. हालांकि, अगर संकेत बहुत ज्यादा अधिक हैं, तो समझदारी होगी कि अगर आप कुछ दिनों के लिए रुक जाएँ, जिससे नकारात्मक प्रभाव गायब हो जाएंगे, और आप फिर से एक नयी शुरुआत कर सकेंगे.

लिंग वृद्धि व्यायाम प्यूबोकॉकीजियस मांसपेशी व्यायाम

प्यूबोकॉकीजियस मांसपेशी व्यायाम

प्यूबोकॉकीजियस मांसपेशी, उर्फ ​​पीसी का व्यायाम भी अत्यधिक महत्वपूर्ण है, यद्यपि यह वास्तव में लिंग के आकार में वृद्धि नहीं करता है, लेकिन यह आपके यौन प्रदर्शन को अच्छा और शक्तिशाली बनाता है. इसके अलावा, यह आपको स्खलन को नियंत्रित करने में भी मदद करेगा जिससे आप बिस्तर में लम्बे समय तक टिके रहेंगे. इसके साथ ही प्रोस्टेट ग्रंथि की मालिश करना भी महत्वपूर्ण है.

सबसे पहले हमें उन मांसपेशियों कोढूंढनाहै. यह मुश्किल नहीं है. आपको बस इतना करना है कि, अगली बार जब आप मूत्रविसर्जन के लिए जाएँ, तो इसे आधे में ही रोक लेंक्या आप गुदाद्वार और टेस्टिकल्स के बीच स्थित मांसपेशियों में आवश्यक प्रयास महसूस कर सकते हैं? वही प्यूबोकॉकीजियस मांसपेशी है.

इस अभ्यास की सबसे अच्छी बात यह है कि इसे कहीं भी, किसी भी समय, सार्वजनिक स्थान पर  भी किया जा सकता है, वो भी किसी की नज़र में आये बिना. अभ्यास करने के लिए, आपको बस मांसपेशी को अन्दर की तरफ़ सिकोड़ना है और फिर ढीला छोड़ देना है. यह बहुत ही सरल है. यह एक ऐसा अभ्यास है जिसे आप टीवी देखने के समय, सार्वजनिक परिवहन या किसी और चीज की प्रतीक्षा करते समय आसानी से कर सकते हैं, जब तक आप सोते हैं उस समय भी और यहां तक ​​कि कार्यालय में भी.

इस एक बार में ५० बार करें, और दिन में कई बार दोहरायें. इस व्यायाम के दिन में १०x५० प्रयोगों की सलाह दी जाती है या फिर दिन में ५०० बार करें. वास्तव में आपको प्रति दिन ५०० बार करने की ज़रूरत नहीं है (कुछ दिन आप अधिक कर सकते हैं, अन्य दिन कम), लेकिन कोशिश करके इसे हर दिन करें.

प्यूबोकॉकीजियस मांसपेशी व्यायाम

शुरुआत में आम तौर पर आप जाँघों या पेट की अन्य मांसपेशियों को भी यह जांचने के लिए सिकोड़ सकते हैं कि आप प्यूबोकॉकीजियस मांसपेशियों को सही तरीके से सिकोड़ रहे हैं या नहीं. आप अपनी दो अंगुलियों को गुदाद्वार और टेस्टिकल्स के बीच रखें, आपको अपनी अंगुलियों के नीचे मांसपेशियों के सिकुड़ने का अहसास होगा. एक समय में अन्य मांसपेशियों को बिना सिकोड़े हुआ उस ख़ास मांसपेशी को सिकोड़ने की विधि सीखने के बाद आपको अपनी उंगलियों का उपयोग करने की आवश्यकता नहीं होगी और आप कहीं भी, कभी भी व्यायाम करने में सक्षम होंगे.

निष्कर्ष:

लिंग वृद्धि के लिए ये सबसे आम अभ्यास हैं जो कि सबसे अच्छे परिणाम भी देने वाले हैं. जटिल और कठिन अभ्यासों के बारे में भूल जाइये, क्योंकि जब लिंग के आकार को बढ़ाने की बात आती है, तो कभीकभी सादगी ही सबसे अच्छा जवाब होता हैइसे केवल सरल और गुणवत्ता पूर्ण रखें.

लिंग के आकार को बढ़ाने के अभ्यास को हर दिन बिना किसी छुट्टी के करना चाहिए, ये व्यायाम आपका ज्यादा समय भी नहीं लेते हैं (लगभग एक घंटा). हालांकि, ये अभ्यास अपना प्रभाव दिखाने में अधिक समय (कई महीने) लगाते हैं लेकिन फिर भी इन्हें नियमित रूप से (दैनिक दो बार) किया जाना चाहिए जिससे आपको टिकाऊ परिणाम प्राप्त हो सकें.

कुछ महीनों के लिए रोजाना अभ्यास करने के लिए आपको दृढ़ संकल्प की जरूरत होती है, लेकिन आप अभ्यास के समय को कम करके साथ में गोलियों को लेकर भी परिणामों में सुधार कर सकते हैं.

एक अच्छा सप्लीमेंट व्यायाम की प्रभावशीलता को ६२% तक (यही सच्चाई है) बढ़ा सकता है. वे लोग जो अपने लिंग को जल्दी बड़ा करना चाहते हैं, उनके लिए अच्छे सप्लीमेंट का प्रयोग बहुत ही आवश्यक होता है. या तो केवल सप्लीमेंट या फिर अभ्यास के साथ में सप्लीमेंट, लिंग को बढ़ाने के लिए बहुत ही आवश्यक हैक्योंकि सप्लीमेंट एक ऐसाभोजनहै जो कि लिंग की बढ़ने में मदद करता है! एक अच्छे सप्लीमेंट के उपयोग से अभ्यास की प्रभावशीलता को ६२% तक बढ़ाया जा सकता है और अभ्यास के समय में ४६% तक की कमी की जा सकती है.

यद्यपि आप अपने लिंग को केवल व्यायाम करके भी बढ़ा कर सकते हैं, लेकिन यह अव्यवहारिक और बहुत ही समय लेने वाला प्रयास होगा, जिसके चलते अधिकांश पुरुष अपेक्षित परिणामों तक पहुंचने से पहले ही प्रयास करना छोड़ देते हैं. हालांकि, एक अच्छे सप्लीमेंट कीसहायतासे, आप बहुत तेज़ी से परिणामों को पा सकते हैं (जो आपको प्रोत्साहित भी करेगा), और आप बहुत ही कम समय में एक बड़े लिंग के मालिक होंगे.

वास्तव में, जब आप एक किसी अच्छे लिंग वृद्धि सप्लीमेंट को लेते हैं, तो आप कभी-कभी अभ्यास को छोड़ भी सकते हैं, बस दिन में दो से तीन बार लिंग को कड़ा कर लें (क्योंकि सप्लीमेंट लिंग के कड़े होने पर अपना असर दिखाता है). सप्लीमेंट के अधिकतम लाभ को प्राप्त करने के लिए सेक्स या हस्तमैथुन करें. इस बात का कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप चरमोत्कर्ष को प्राप्त करते हैं या नहीं, लेकिन आप जितनी अधिक देरी तक कड़ेपन को बरकरार रख सकें आपके लिए यह उतना ही फायदेमंद होगा.
लिंग वृद्धि सप्लीमेंट के पूर्ण असर की जांच करें कि इससे आपको कितना लाभ हो सकता है, उसके बाद आप केवल सप्लीमेंट ले सकते हैं या फिर व्यायाम के साथ इसका संयोजन भी कर सकते हैं. आप हैमर ऑफ़ थॉर पिल्स (सबसे सस्ता) या थॉर ड्रॉप्स (सबसे शक्तिशाली) जैसे विकल्पों का भी चुनाव कर सकते हैं.

hammer of thor pills hindi

BUY HAMMER OF THOR

लिंग वृद्धि व्यायाम
3.9 (77.5%) 8 votes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *