लिंग बड़ा करने के ट्रीटमेंट – लिंग साइज़ बढ़ाने के सबसे बढ़िया तरीका (अपने लंड का मनचाहा साइज़ पाएँ!)

By | May 21, 2018

Contents

लिंग बड़ा करने के ट्रीटमेंट – लिंग साइज़ बढ़ाने के सबसे बढ़िया तरीका (अपने लंड का मनचाहा साइज़ पाएँ!)

About DR. RICHA AHUJA

Physical Health And Behavioural Sciences

कई पुरुष अपने लिंग के साइज़ को लेकर हीन भावना से ग्रस्त होते हैं और उसको लेकर दुखी बने रहते हैं।

चाहे जिम में, बीच पर या बिस्तर में, इन्हें अपने आत्म-सम्मान के बारे में अच्छा महसूस करने के लिए एक बड़े लौड़े की जरूरत होती है।

यह बात समझ में भी आती है। यदि आपको लगता है कि एक बड़े लिंग से आपका आत्म-विश्वास बढ़ जाएगा, तो आपको लिंग बड़ा करने के ट्रीटमेंट लेने ही चाहिए।

यदि आप अभी सबसे अच्छे लिंग वृद्धि करने के सप्लिमेंट के बारे में पूछ रहे हैं तो आपको यह जानकारी इस लेख में मिलेगी, इसलिए पूरी पोस्ट पढ़ें।

लिंग वृद्धि के सप्लिमेंट्स क्या होते हैं

अधिकतर पुरुष मानते हैं कि लिंग का साइज़ बड़ा हो जाने से वे बेहतर आदमी बन जाएंगे और ज़्यादा आकर्षक हो जाएंगे। लेकिन ज़्यादा संभावना इसी बात की है कि आपका लंड औसत साइज़ की रेंज में ही हो।

औसत से कम साइज़ वाले पुरुषों को लिंग का साइज़ बड़ा करने से बहुत फायदा होता है।

यूनिवर्सिटी ऑफ ओट्टावा में किए गए शोधों में यह तक सामने आया है कि लिंग बड़ा करना उचित होता है। इससे कुछ विशेषज्ञ भौचक्के रह गए हैं।

पिछले 15 महीनों में कई लोग अपना लिंग बड़ा करवा कर अपने आत्म-सम्मान को बेहतर कर पाए हैं।

इससे उनका आत्म-सम्मान बढ़ता है और इससे भी बड़ी चीज यह है कि उन्हें रिश्तों में, सेक्स में, सामाजिक जीवन में और यहाँ तक की कैरियर में ज़्यादा सफलता मिलती है। (जैसे मॉडलिंग, बॉडीबिल्डिंग या एक्टिंग करने वाले लोग)।

हालांकि लिंग के साइज़ को केवल तभी बड़ा किया जाना चाहिए जब पुरुष का लिंग चिकित्सकीय दृष्टि से ‘छोटा लिंग’ माना गया हो। यदि किसी का लिंग ‘औसत’ साइज़ का हो तो अधितकर विशेषज्ञ ‘बहुत बड़े साइज़’ की सलाह कभी नहीं देते।

लिंग वृद्धि के उपायों को दो समूहों में बाँटा जा सकता है, एक ऑपरेशन द्वारा, और दूसरे बिना ऑपरेशन वाले।

यदि आप लिंग बड़ा करने के लिए ऑपरेशन करवाने की सोच रहे हों तो आपको जबर्दस्त नतीजों की जगह मध्यम परिणाम के बारे में सोचना (की अपेक्षा) करनी चाहिए।

आसान शब्दों में कहा जाए तो; आपको 3 से 5 सेमी तक लंबाई बढ़ाने के लिए ही ऑपरेशन करवाना चाहिए। 6 सेमी या 8-9 सेमी करना हर कोई चाहेगा, लेकिन अधिकतर ऑपरेशन इस तरह के नतीजे नहीं दे सकते। हाँ, क्लीनिक ऐसा जरूर दावा करेंगे।

आपको यह भी मालूम होना चाहिए कि बहुत छोटे लिंग वाले लोग (जैसे, खड़ी अवस्था में 4-7 सेमी) भी सामान्य साइज़ के लिंग से ज़्यादा कुछ नहीं चाहेंगे। इसलिए लंबाई केवल 5 सेमी बढ़ती है लेकिन कुल लंबाई 12 सेमी तक पहुँच जाती है जिससे लोग औसत साइज़ तक जरूर पहुँच जाते हैं।

साइज़ में 50% की बढ़ोतरी तो बहुत अच्छी मानी जाएगी फिर भी कुछ लोग इससे संतुष्ट नहीं होंते।

इसलिए यह ध्यान रखें कि तरीका चाहे ऑपरेशन वाला हो या बिना ऑपरेशन वाला, लिंग बड़ा करने के ट्रीटमेंट्स से ‘जादुई नतीजों’ की उम्मीद न रखें।

वृद्धि तो जरूर होगी लेकिन अधिकतर मामलों में यह मध्यम ही होगी, और इससे आपका लिंग ‘राक्षसी लौड़ा’ नहीं बनने वाला है!

पुरुष लिंग बड़ा करने के ट्रीटमेंट क्यों करवाते हैं

Why Men Seek Penis Enlargement Treatments

कुछ पुरुष अपने लिंग के साइज़ को लेकर बहुत चिंतित रहते हैं और इस कारण से एक स्वस्थ सेक्स जीवन जीने में असमर्थ रहते हैं।

लिंग वाला हर शख्स लिंग वृद्धि के उपायों से फायदा उठा सकता है।

लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो छोटे या औसत लिंग से काम चला लेते हैं, और छोटा होने के बाद भी अच्छी सेक्स लाइफ जीते हैं।

जो लोग अपने लिंग के साइज़ से असंतुष्ट हैं उन्हें ऑपरेशन करवाने के पहले दो बार सोचना चाहिए, खासकर तब, जब उनका लिंग औसत लिंग की श्रेणी में आता हो क्योंकि ऑपरेशन में जोखिम होता है और इसमें पैसे भी खर्च होते हैं।

हाँ, आप बिना ऑपरेशन वाले तरीके जैसे लिंग वृद्धि उपकरण, लिंग के व्यायाम, और अन्य प्राकृतिक तरीके अपना सकते हैं।

हमारे पाठक अनुमोदन करते हैं!

अपने लिंग का आकार बढ़ाने के लिए हमारे पाठकों ने सफलतापूर्वक Hammer of Thor जेल का प्रयोग किया. इस टूल की इतनी अधिक प्रसिद्धि देख कर हमने इसे आपके ध्यान में लाने का सोचा

यहाँ और अधिक पढ़ें

लिंग बड़ा करने के ट्रीटमेंट कैसे काम करते हैं

How Penis Enlargement Treatment Work

ये उपाय कैसे काम करते हैं? ये उसी सिद्धान्त पर काम करते हैं जिसके आधार पर हम जिम में अपनी मसल की एक्सर्साइज़ करके उन्हें बड़ा करने का प्रयास करते हैं।

शरीर की मसल्स की (या आपके लिंग के ऊतकों) एक्सर्साइज़ करने से आप लिंग में माइक्रोटीयर (सूक्ष्म तरीके से फट जाना) बना देते हैं।

ऐसा होने से शरीर इन माइक्रोटीयर को भर कर ठीक करने की कोशिश करता है जिससे उस क्षेत्र में कोशिकाओं की वृद्धि उत्प्रेरित होती है।

लिंग बड़ा करने के मामले में भी यही सिद्धान्त लागू होता है। आपको ऐसे शोध भी मिल जाएंगे जिनमें यह पुष्टि हो गई है कि ट्रैक्शन-उपकरण, पीनस पंप, और पीनल स्ट्रेचिंग के असर लंबे टिके रह सकते हैं।

आपको अपने लिंग की, अंडकोषों की, आपकी सेमीनल मसल्स और अपनी प्रोस्टेट की पुरुष प्रजनननीय प्रणाली को समझना होगा।

लिंग में स्पंज जैसे ऊतक होते हैं जो उसके खड़े होने के लिए उत्तरदायी होते हैं। लिंग के अंदर “यूरेथ्रा” नामक एक पाइप होता है जिससे आपके शरीर से पेशाब और वीर्य का निष्काशन होता है।

एक शिथिल लिंग का औसत साइज़ अधिकतम 6-8 सेमी तक होता है। कई विशेषज्ञों के द्वारा किए गए रिव्यू में यह पाया गया कि बैठे हुए लिंग की औसत लंबाई 9-10 सेमी होती है।

खड़े औसत लिंग की लंबाई 14-16 सेमी और मोटाई 10-12 सेमी होती है। ये आँकड़े 2007 में BJU Global ने उपलबद्ध कराए हैं। इस रिव्यू में मापने के कई तरीके शामिल किए गए थे।

आपके लिंग का साइज़ बड़ा करने के लिए कई तरीकों का इस्तेमाल किया जा सकता है और इन सभी तरीकों से छोटे लौड़ों के साइज़ में अच्छा बदलाव देखा गया है।

विभिन्न इलाजों से आपके लिंग का साइज़ बड़ा कैसे हो जाता है? जैसा पहले बताया गया है, लिंग में स्पंज जैसे ऊतक प्रकोष्ठ होते हैं जो रक्त प्रवाह प्रणाली से वहाँ रक्त पहुँचने पर उसे सोख लेते हैं और जब इन प्रकोष्ठों में रक्त भर जाता है तो आपका लिंग खड़ा हो जाता है।

जब ट्रीटमेंट लगातार किया जाता है और सही तरीके से किया जाता है, तो लिंग के प्रकोष्ठ बड़े हो जाते हैं।

ऐसा होने पर लिंग में ज़्यादा रक्त भरने लगता है जिससे आपके लिंग का साइज़ भी बढ़ जाता है।

इन उपायों से लिंग को खड़ा करने के लिए उत्तरदाई मसल ऊतकों को स्ट्रेच करके उन्हें मजबूत किया जाता है और इसी मजबूती से ऊतकों के साइज़ में धीरे-धीरे वृद्धि होने लगती है।

लिंग बड़ा करने के ऑपरेशन वाले उपाय

Surgical Treatment For Penis Enlargement

लिंग बड़ा करने के ऑपरेशन की आवश्यकता उन पुरुषों तक सीमित होती है जिनका लिंग जन्म से ही खराब हो या किसी दुर्घटना के कारण काम नहीं करता हो।

कुछ सर्जन ऐसे हैं जो कई तरह की तिकड़में लगा कर लिंग बड़ा करने के ऑपरेशन करते हैं लेकिन यह विवादास्पद तरीका है जिसे कई लोग अनावश्यक और कुछ मामलों में खतरनाक मानते हैं।

ऑपरेशन वाले ये तरीके आखिरी विकल्प के रूप में देखे जाने चाहिए। लिंग बड़ा करने के लिए ऑपरेशन के बारे में ज़्यादा रिपोर्ट्स भी उपलब्ध नहीं हैं जिनसे इनके जोखिम और लाभों का तुलनात्मक अध्ययन किया जा सके।

लिंग बड़ा करने के सबसे पुराने ऑपरेशन वाले तरीके में आपके लौड़े को प्यूबिक-हड्डी से जोड़ने वाले सस्पेंसरी लीगामेंट (ऊतक जिससे लिंग हड्डी से जुड़ता है) को काट दिया जाता है और पेट से त्वचा निकाल कर लिंग के डंडे में लगा दी जाती है।

जब डॉक्टर सस्पेंसरी लीगामेंट को काट देते हैं तो इससे खड़ा लिंग बड़ा हो जाता है। सस्पेंसरी लीगामेंट को कई बार दूसरे तरीकों के साथ काटा जाता है जैसे प्यूबिक हड्डी से अतिरिक्त वसा हटाने के साथ।

लिंग की मोटाई बढ़ाने के लिए आपके शरीर के किसी भरे-पूरे क्षेत्र से थोड़ी चर्बी लेकर उसे लिंग के डंडे में भर दिया जाता है।

इसके नतीजे निरुत्साहित कर देने वाले हो सकते हैं लेकिन चूंकि इंजेक्ट की गई अधिकतर चर्बी फिर से सोखी जा सकती है, इससे पीनाइल कर्वेचर नामक विकार उत्पन्न हो सकता है जिससे लिंग का आकार अनियमित हो जाता है।

मोटाई बढ़ाने की एक और तकनीक है लिंग में अतिरिक्त ऊतक जोड़ देना। इनमें से किसी भी प्रक्रिया को हानिरहित नहीं माना जाता लेकिन इनसे आपकी दक्षता और ठीक से खड़े होने की क्षमता पर प्रभाव पड़ सकता है।

Penis Pump – Vacuum Devices

Penis Pump – Vacuum Devices

कई बार इरेक्टाइल डिसफंक्शन के इलाज के लिए वैक्यूम डिवाइसों की सलाह दी जाती है, लेकिन इन्हें भी लिंग वृद्धि के लिए इसलिए सुझाया जाता है क्योंकि इनसे उपयोग के समय लिंग का आकार बढ़ जाता है।

वैक्यूम पंप सिस्टम को आपके लिंग के ऊपर रख दिया जाता है और इसके बाद ट्यूब में से हवा बाहर निकाल दी जाती है जिससे दबाव बनता है। इसके कारण रक्त तेजी से लिंग में भरने लगता है और खड़ा हो जाता है।

आपके लिंग के निचले हिस्से में कुछ समय के लिए एक रिंग लगाया जाता है ताकि भरा हुआ रक्त जल्दी से वापस न जाए। लिंग वृद्धि केवल 24 घंटे तक टिकी रहती है।

इसके साइड-इफेक्ट भी हो सकते हैं। इससे रक्त नलिकाएँ फट सकती हैं जिससे दाह और दर्द हो सकते हैं।

यदि आप खड़े होने की समस्या के लिए या सेक्स अनुभव बेहतर करने के लिए वैक्यूम डिवाइस ट्राय कर रहे हैं तो आपको कुछ उपकरणों के खतरों की जानकारी होनी चाहिए।

यदि पीनाइल पंप को ज़्यादा समय तक इस्तेमाल किया जाता है तो इससे खड़े होने की अवधि तो बढ़ सकती है लेकिन ऊतकों में चोट लग सकती है।

कई बार पीनाइल पंप का मुख्य उद्देश्य होता है एडीमा या सूजन की मदद से लौड़े की मोटाई कुछ समय के लिए बढ़ा देना, जिससे लिंग का घेराव बढ़ जाता है।

इन पंपिंग सिस्टम के साथ एक ही समस्या होती है और वह है इनकी खराब डिज़ाइन जिससे कई बार दर्द और असुविधा हो सकती है।

किसी मेडिकल रूप से डिज़ाइन किए गए पीनस पंप का उपयोग करें जो ज़्यादा कार्यदक्ष और असरदार होते हैं और मार्केट में उपलब्ध स्टैंडर्ड पंप की तुलना में कम खतरनाक होते हैं।

कृपया यह भी ध्यान रखें कि इन पंप को निर्देशानुसार ही उपयोग करें क्योंकि ठीक से इस्तेमाल न करने से ऊतकों में चोट लग सकती है।

वैक्यूम उपकरणों और वजनों से साइज़ में न्यूनतम, अल्पावधि के लिए वृद्धि हो सकती है। चूंकि आपका लिंग एक रबड़-बैंड की तरह लचकदार होता है, यह थोड़े समय बाद वापस अपने आकार में आ ही जाएगा।

पीनस पंप में आपके लिंग के ऊपर एक ट्यूब रखकर ऑक्सिजन को पंप करके बाहर कर दिया जाता है जिससे वैक्यूम बन जाता है। यह वैक्यूम लिंग की ओर खून का प्रवाह बढ़ाता है और वह फूल जाता है।

वैक्यूम प्रोडक्ट्स अधिकतर मर्दानगी को या ठीक से खड़ा न होने के विकार को कुछ दिन तक ठीक करने के लिए उपयोग किए जाते हैं। लेकिन यदि आप पीनस पंप को जरूरत से ज़्यादा उपयोग करेंगे तो आपके लिंग के ऊतकों को नुक्सान पहुँच सकता है और खड़े होने की शक्ति कम हो सकती है।

परिणाम देखें

पीनस एक्सटेंडर – पीनाइल स्ट्रेचिंग उपकरण

Penis Extender – Penile Stretching Devices

इस प्रक्रिया में शिथिल लिंग पर एक छोटे फ्रेम में वजन रखकर लटकाया जाता है ताकि वह खिंच कर बड़ा हो सके। इसे कई बार ट्रैक्शन डिवाइस भी कहते हैं।

विशेषज्ञ कहते हैं कि ऐसे कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है कि वजन लटकाने से आपका लिंग बड़ा हो जाता है। बल्कि इनसे लौड़े में स्थायी नुक्सान भी पहुँच सकता है। लेकिन लौड़ा बड़ा करने के लिए ट्रैक्शन डिवाइस या पीनस एक्सटेंडरों के साथ उपयोग करके इससे अच्छे नतीजे मिल सकते हैं।

इस बात के कुछ प्रमाण हैं कि ट्रैक्शन प्रोडक्ट्स का कुछ असर होता है, खासकर उन लोगों पर जिनका लिंग छोटा हो।

“छः महीने तक ट्रैक्शन गैजेट उपयोग करने वाले कुछ समस्याग्रस्त लोगों ने आकार में 2-3 सेमी की बढ़त देखी है। लेकिन ऐसे ट्रीटमेंट उपायों को बिना डॉक्टर की सलाह के शुरू नहीं करना चाहिए” यह कहना है डॉक्टर लोरिया का जो एक सेक्स थेरेपिस्ट हैं।

फिर भी, मार्केट में ऐसे स्ट्रेच उपकरण उपलब्ध हैं जो खड़े लिंग की लंबाई पर अच्छा असर डालते हैं।

डॉ लोरिया का मत यह हो सकता है कि ये स्ट्रेचर आज के दिन उपलब्ध कई मेडिकल और सर्जिकल विकल्पों की तुलना में काफी सुरक्षित और असरदार हैं।

ऐसे कई प्रोडक्ट हैं जो आपके लिंग को लंबा करने के लिए उस पर बल डालते हैं या उसे खींचते हैं। इस सिस्टम को शिश्न-मुंड पर लगाकर खींचा जाता है जिससे लिंग खींच जाए।

लंबे समय तक लगातार तनाव देते रहने से – शायद कई सालों तक ऐसा करने से – लिंग का डंडा लंबा हो सकता है।

हालांकि इसमें काफी मेहनत और समय लगता है, यह एक बहुत चरम सीमा की थेरेपी है, और काम कर सकती है। लेकिन नतीजे पाने के लिए आपमें कड़ी लगन होनी चाहिए।

पीनस एक्सटेंडर’ डिवाइसों में ‘स्ट्रेचिंग’ सिस्टम भी शामिल होते हैं। ये डिवाइसें लिंग के डंडे पर  ट्रैक्शन लगाकर इस बल से उसके ऊतकों बेल्ट के एक सिस्टम से खींचती हैं।

यदि कोई इसका उपयोग करता है तो गहन थेरेपी से लिंग की लंबाई बढ़ जाती है।

लिंग के डंडे पर लंबे समय के लिए किसी भी तरह का बल लगाते समय सावधानी बरतें। आप चाहे ‘पंप’ इस्तेमाल कर रहे हों या ‘एक्सटेंडर’ सिस्टम, आप किसी भी अवस्था में अपने लिंग के ऊतकों को नुक्सान पहुंचाना नहीं चाहेंगे।

इसलिए यदि आपको दर्द हो रहा हो या असुविधा आदि हो रही हो तो तुरंत बंद कर दें और डॉक्टर की सलाह लें।

हमारे पाठक अनुमोदन करते हैं!

अपने लिंग का आकार बढ़ाने के लिए हमारे पाठकों ने सफलतापूर्वक Hammer of Thor जेल का प्रयोग किया. इस टूल की इतनी अधिक प्रसिद्धि देख कर हमने इसे आपके ध्यान में लाने का सोचा

यहाँ और अधिक पढ़ें

लिंग बड़ा करने के लिए एक्सर्साइजें

Penis Exercises for Enlargement

लिंग की एक्सर्साइज़, जिन्हें कई बार जेल्क़िंग भी कहते हैं, प्राचीन मिस्र में लिंग बड़ा करने के लिए उपयोग की जाती थीं।

इन एक्सर्साइज़ को करने के बाद तुरंत जबर्दस्त नतीजों की उम्मीद न करें, हालांकि कई पुरुष बताते हैं कि उन्होने कुछ माह एक्सर्साइज़ करने के बाद 2 इंच तक की बढ़त पा ली।

सभी दिनचर्याओं की तरह इसके नतीजे भी थोड़े समय में ही नज़र नहीं आते, लेकिन सही एक्सर्साइज़ करने से आप धीरे-धीरे लेकिन स्थिर फुलाव देखेंगे।

लिंग की एक्सर्साइजों के फायदे ये हैं कि ये सुरक्षित होती हैं और इन्हें ट्राय करने से आपके स्वास्थ्य को कोई नुक्सान नहीं होगा।

जेल्क़िंग एक ऐसी एक्सर्साइज़ है जिसमें आप खड़ेपन के आकार को लंबा करने के उद्देश्य से अपने शिथिल लिंग को अपने अंगूठे और तर्जनी से बार-बार खींचते हैं।

लिंग बड़ा करने की एक्सर्साइजों की दिनचर्या का सिद्धान्त यह है कि इनसे लिंग के उत्तकों में रक्त प्रवाह बढ़ जाता है और उसकी लंबाई और मोटाई बढ़ जाती है।

क्रीमों की ही तरह, एक्सर्साइज़ तकनीकों से भी कुछ पुरुषों को ज़्यादा आनंद की प्राप्ति हो सकती है और आगे चलकर शिथिल और खड़ी, दोनों अवस्थाओं में लिंग का आकार बड़ा हो सकता है,” यह कहना है प्रोफेसर वायली का जो एक सेक्स थेरेपी एक्सपर्ट हैं।

लेकिन ऐसे कोई क्लीनिकल प्रमाण नहीं हैं जिनसे यह साबित होता हो कि जेल्क़िंग से लिंग का साइज़ बढ़ने की गारंटी होती है।“

छः से आठ हफ्तों में आप अपने लिंग के आकार में थोड़ी बढ़त महसूस करने लगेंगे, और छः महीने में आपको काफी बदलाव नज़र आएंगे।

एक साल बाद आप 1-2 इंच की बढ़त महसूस करेंगे और लिंग का खड़ापन भी ज़्यादा शक्तिशाली हो जाएगा।

जेल्क़ प्रक्रिया कैसे की जाती है?

4 steps to the basic jelq

अधिकतम लाभ के लिए इसे रोज करना होता है और निम्नलिखित चरणों का पालन करना होता है:

1. एक बहुत गर्म टॉवल से वर्म-अप करें।

2. अपने आधे-खड़े लिंग के निचले हिस्से को अपने अंगूठे और तर्जनी से पकड़ लें। इन दोनों उँगलियों से अँग्रेजी अक्षर ‘ओ’ का आकार बना लें, और ऐसा करने से आप रक्त का प्रवाह बंद कर देंगे जिससे कोशिकाओं में ज़्यादा रक्त प्रवाहित होगा।

3. अपने हाथों को इस तरह आगे ले जाएँ मानों आप लिंग में खून खींच कर ले जा रहे हों, ऐसा करने से आपको लिंग में ज़्यादा रक्त भरता हुआ महसूस होगा।

4. जब आप अपने लिंग को सीधे हाथ में पकड़े हों तो लिंग के आधार को एक बार फिर अपनी बाईं हथेली से पकड़ लें, और इसी तरह की रूटीन उल्टे हाथ से भी करें।

5. इस एक्सर्साइज़ को 20-25 मिनट तक करें।

जेल्क़ तकनीक पर कुछ और जानकारी:

यदि आपको लिंग के मुंड पर हल्की चोटें या लाल निशान दिखें तो यह सामान्य होता है। ये तुरंत चले जाएंगे। इनसे बचने के लिए वर्कआउट धीरे-धीरे शुरू करें और गति को चरणबद्ध तरीके से बढ़ाएँ।

फायदे देखने के लिए इस एक्सर्साइज़ को आधे-खड़े लिंग में करें।

आपको जब हो सके रक्त को दबाना होगा ताकि आपका लिंग कोशिकाओं में सामान्य से ज़्यादा रक्त भर सके। ऐसा करने से आगे चलकर आपके लिंग के रंग में थोड़ी लाली आ जाएगी।

जेल्क़िंग शुरू करने से पहले सुनिश्चित कर लें कि आपका लिंग आधा-खड़ा हो जिसमें अधिकतम खड़े लिंग की आधी से लेकर तीन-चौथाई लंबाई तक आ गई हो।

आपके मुंड की संवेदनशीलता भी जा सकती है।

बैठे लंड में जेल्क़िंग करने से कोई फायदा नहीं होता।

पूरे खड़े लिंग में जेल्क़िंग करने से ऊतक नर्म हो सकते हैं और नर्व में नुक्सान भी पहुँच सकता है।

कूल डाउन होने के लिए पूरा समय दें।

यदि आपको दर्द या तकलीफ हो तो आगे जारी न रखें। इन सभी एक्सर्साइज़ को दर्द-रहित तरीकों से करने के लिए ही बनाया गया है।

परिणाम देखें

लिंग बड़ा करने की दवाइयाँ और सप्लिमेंट्स

Penis Enlargement Pills And Supplements

यदि आपको लिंग खड़ा करने में समस्याएँ आ रही हों और लिंग में रक्त प्रवाह ठीक से न हो रहा हो तो आप लिंग वृद्धि की दवाएँ ले सकते हैं।

वास्तव में आपको लिंग का सबसे बड़ा साइज़ तभी मिल सकता है जब आपके लिंग में ज़्यादा रक्त आ हो रहा हो (रक्त के ज़्यादा प्रवाह के कारण)।

फिर भी कई विशेषज्ञ तेजी से नतीजे पाने के लिए पंप या एक्सटेंडर उपयोग करते समय लिंग वृद्धि की दवाइयों को डाइट सपोर्ट के तौर पर उपयोग करने में कोई हानि नहीं मानते।

ध्यान दें: मैंने मार्केटप्लेस में लिंग बड़ा करने की कई दवाइयों का रिव्यू किया है और मुझे एक बहुत अच्छा उत्पादक मिला है जिसका नाम है Hammer of Thor.

तेज और ज़्यादा अच्छे नतीजे पाने के लिए लिंग की एक्सर्साइज़ करते समय डाइट सपोर्ट लेना बहुत अच्छा होता है।

यदि आपको ज़्यादा शक्तिशाली खड़ापन, बड़ा लिंग, और ज़्यादा संतुष्टि देने वाली सेक्स लाइफ चाहिए हो तो आपको आपने न्यूट्रिशन सप्लिमेंट्स पर ध्यान देना चाहिए।

सही विटामिनों का अभाव होने पर आपके शरीर की प्रणाली ठीक से काम नहीं कर सकती और आपको मनचाहे नतीजे मिल ही नहीं सकते।

कुछ शोधों के अनुसार लिंग बड़ा करने के असर को बेहतर करने के लिए आपको निम्नलिखित विटामिनों और खनिजों पर ध्यान देना होगा:

विटामिन:

  •         2000 मिग्रा विटामिन सी
  •         100 मिग्रा विटामिन ए
  •         100 IU विटामिन डी
  •         30 मिग्रा ज़िंक
  •         200 मिग्रा मैग्नीशियम
  •         50 मिग्रा थियामीन

खनिज:

  •         525 मिग्रा कैल्सियम सप्लिमेंट
  •         150 मिग्रा विटामिन ई
  •         25 मिग्रा पोटेशियम
  •         200 मिग्रा विटामिन बी12 सप्लिमेंट
  •         400 मिग्रा फॉलिक एसिड।

इनमें से अधिकतर खनिज और विटामिन लोकल दवाई की दुकान या सुपरमार्केट में टैबलेट या लिंग बड़ा करने की दवाइयों के रूप में उप्लबद्ध होते हैं।

hammer of thor pills

BUY HAMMER OF THOR

लिंग वृद्धि के प्राकृतिक तरीके

Natural Treatment In Penis Enlargement

क्या आप जानते हैं कि आप कुछ खाने की चीजों की मदद से अपने लिंग का साइज़ बढ़ा सकते हैं?

इनमें से लोकल दुकानों या सुपरमार्केट में उपलब्ध चीजें निम्नानुसार हैं:

केले- केलों में प्रचुर मात्रा में पोटेशियम होता है और यह आप के हृदय एवं रक्त प्रवाह के लिए अच्छे होते हैं। केले लिंग के स्वास्थ्य और सेक्स लाइफ के लिए बहुत उत्तम होते हैं।

तरबूज- क्या आप जानते हैं कि तरबूज खाने की ऐसी कुछ चीजों में से एक है जिनसे आपका लिंग बड़ा हो सकता है? तरबूत में सिट्रूलीन नमक प्रोटीन पाया जाता है जो एक पहुँच के अंदर अमीनो एसिड में बदल जाता है और आपके लिंग का स्वास्थ्य बेहतर कर देता है।

लाल प्याज – शोधों ने दर्शाया है कि पूरे शरीर के रक्त प्रवाह को हृदय की ओर अच्छे से विकसित करने के लिए लाल प्याज बहुत अच्छी होती है। यही नहीं, प्याज खाने से रक्त के थक्के बनने की भी रोकथाम होती है। लाल प्याज से न केवल हृदय की ओर रक्त-प्रवाह बढ़ जाता है, यह लिंग की ओर भी प्रवाह बढ़ा देता है।

सामन – जैसा हमने प्याज के बारे में बताया था, रक्त का प्रवाह बढ़ाने में मददगार खाने की चीजों से खड़ापन ज़्यादा कड़ा होता है। सामन खाने के भी ऐसे ही फायदे हैं। ओमेगा 3 एसिड और अन्य फैटी एसिडों में समृद्ध सामन मछली रक्त को पतला करने के लिए एक आदर्श भोजन है जिससे आपका रक्त प्रवाह काफी स्वस्थ हो जाता है।

ब्रोकोली – इससे आपके लिंग की मोटाई या लंबाई में एकदम से बढ़त तो नहीं होगी लेकिन अपने जननांगों के आस-पास की मसल्स को मजबूत करने के लिए ब्रोकोली बहुत अच्छी होती है। यदि आपको ब्रोकोली पसंद नहीं हो तो आप आलू, टमाटर के पौधे या हरी फलीदार सब्जियाँ खा सकते हैं।

कम वसा वाला दही- लिंग बड़ा करने के सभी प्राकृतिक भोजनों में अधिकतर पतले प्रोटीन प्रचुर मात्रा में होते हैं।

डार्क-चॉक्लेट – डार्क-चॉक्लेट में फ्लेवोनोल पाया जाता है जो एक फाइटोकेमिकल है जो कुछ वानस्पतिक भोजनों और पेयों में मिलता है। अधिकतर लोग कभी यह समझ नहीं पाते कि जिन खाने की चीजों में फ्लेवोनोल होता है, जैसे डार्क-चॉक्लेट में, उनसे लिंग की ओर रक्त प्रवाह बढ़ाने में बहुत मदद मिलती है। और डार्क-चॉक्लेट का टेस्ट भी बहुत अच्छा होता है!

इसलिए दोस्तों, यदि आपका पप्पू पहले जैसा काम नहीं कर रहा हो तो अब समय आ गया है कि आप खाने की सही चीजों को लेकर अपने खड़ेपन का साइज़ बढ़ा लें!

परिणाम देखें

लिंग बड़ा करने के हर्बल तरीके

ऐसी कई औषधियाँ हैं जो आपके लिंग की ओर रक्त का प्रवाह बहुत बढ़ा सकती हैं। इन्हें लेने से एक्सर्साइज़ के बाद का रिकवरी पीरियड काफी कम हो जाता है और नतीजे भी ज़्यादा अच्छे आते हैं।

बस इन औषधियों को लें और लिंग वृद्धि में सफलता पाने की संभावना बढ़ा लें:

कोरियन रेड जिन्सेंग – इससे रक्त का प्रवाह और सेक्स प्रणाली बेहतर होती है। ध्यान रखें कि ऐसी कई दवाइयाँ हैं जिनके साथ इसे नहीं लिया जा सकता।

एन्टेंगों हर्ब – इसके गुणों से लिंग की ओर रक्त का प्रवाह तेज हो जाता है।

जिंकों बिलोबा – सेक्स प्रणाली को बेहतर कर देता है। यदि आप रक्त पतला करने की दवाइयाँ ले रहे हों तो इसे नहीं लेना चाहिए।

काटूआबा बार्क- यह सेक्स क्रिया बढ़ाने में बहुत दक्ष होती है जिससे आपका सेक्स आनंद काफी अच्छा हो जाता है और रक्त का प्रवाह बढ़ जाता है।

माका नैचुरल पाउडर – यह एक ऐसा कामोद्दीपक पदार्थ है जिससे खड़ापन बेहतर होता है और ऊर्जा स्तर बढ़ जाता है।

डीयर एंटलर (बारहसिंगे के सींग की शाखा) – यह लिंग की ओर ज़्यादा रक्त ले कर आता है जिससे लिंग ज़्यादा बड़ा खड़ा होता है।

हाथोर्न बेरी – इसमें रक्त के प्रवाह को कंडीशन करने वाले एजेंट होते हैं जिन्हें बायोफ्लेवेनोइड कहते हैं।

एल-आर्जिनिन – यह एक ऐसा अमीनो एसिड है जिससे रक्त का प्रवाह बढ़ता है लेकिन यदि आप नाइट्रोग्लिसरीन ले रहे हों तो इसे नहीं लेना चाहिए।

डामियाना – प्रोस्टेट और खड़ेपन की समस्याओं का सामना करने के लिए यह बहुत लाभप्रद होता है।

बस इस बात का भी ध्यान रखें कि इन हर्ब्स से केवल आपका रक्त प्रवाह बढ़ेगा। असली साइज़ बढ़ाने के लिए आपको एक्सर्साइज़ भी करनी होगी।

लिंग बड़ा करने के उपायों में क्या अपेक्षा करें?

ज़्यादातर लोगों की लंबाई एक इंच और मोटाई में आधा इंच की बढ़त हो जाती है।

लेकिन आपके नतीजे और उन्हें पाने में लगने वाला समय निम्नलिखित चीजों पर निर्भर करता है:

  •         आपने लिंग वृद्धि का कौन सा तरीका चुना है
  •         थेरेपी को लगन से करना
  •         ऊतक विकास में आपकी आनुवांशिक बनावट

आपको यह भी समझना होगा कि लिंग वृद्धि के ये उपाय एक दिन में असर नहीं करने वाले हैं क्योंकि आपको कोशिकाओं और ऊतकों का विकास करना होता है। इसलिए, दिखने लायक नतीजे मिलने में करीब दो से तीन महीने लग सकते हैं।

इसके बाद आपको अपना लिंग के खड़ेपन में ज़्यादा मजबूती का एहसास होगा और आप अपना साइज़ भी बढ़ा सकेंगे।

फिर भी अधिकतर पुरुष यही रिपोर्ट करते हैं कि उन्हें लगातार और नियमित रूप से ट्रीटमेंट करने पर तीसरे और छठवें महीने के बीच नतीजे मिल जाते हैं।

क्या लिंग बड़ा करने के उपायों से मिले नतीजे स्थायी होते हैं?

अपने मन का साइज़ पा लेने के बाद लिंग वृद्धि के उपाय कम किए जा सकते हैं। लेकिन यह सलाह दी जाती है कि आप वृद्धि को मेनटेन रखने के लिए उपाय करना जारी रखें।

यह भी ध्यान रखें कि वृद्धि दो प्रकार की होती हैं, अस्थायी और स्थायी। पीनस पंप और पीनस एक्सटेंडर से आपको केवल अस्थायी वृद्धि मिलेगी जो 24 घंटे तक बनी रहती है। स्थायी बढ़त के लिए छः महीने तक नियमित ट्रीटमेंट करना होता है।

लिंग वृद्धि के उपायों के जोखिम

लिंग बड़ा करने के ऑपरेशन वाले तरीकों के वैज्ञानिक शोधों में सुरक्षा, प्रभावशीलता और सेक्स सुख के मिश्रित नतीजे मिले हैं।

ऑपरेशन करवाने से इन्फेक्शन, दाग, संवेदनशीलता या सेक्स क्रिया चला जाना जैसे दुष्प्रभाव हो सकते हैं। लिंग बड़ा करने के बगैर ऑपरेशन वाले उपाय ज़्यादातर कम जोखिम वाले होते हैं।

कुछ दुर्लभ मामलों में एड्रेनलिन के अत्यधिक उत्पादन से आपका लिंग सिकुड़ सकता है।

और हाँ, यदि आप जरूरत से ज़्यादा एक्सर्साइज़ कर लेंगे तो चोट लगेगी ही लगेगी।

कुछ आम समस्याएँ हैं लिंग के मुंड में चकत्ते पड़ना, लिंग में थकान, दर्द, लिंग की नसें बंद हो जाना, लिम्फ़ नलिकाएँ चोक हो जाना, थ्रोंबोसिस (नलिका में रक्त का थक्का जम जाना), लिंग में संवेदना चली जाना, लिंग के ऊपर की चमड़ी में समस्याएँ, अत्यधिक संवेदनशील लिंग, और खड़े होने में समस्याएँ (इरेक्टाइल डिसफंक्शन)।

याद रखें, यदि आप जरूरत से ज़्यादा एक्सर्साइज़ करेगे और शरीर पर ज़्यादा तनाव देंगे तो चोट लगने का खतरा बहुत बढ़ जाएगा। अपने लिंग की एक्सर्साइज़ में भी ऐसा ही होता है – अति करेंगे तो चोट पक्के में लगेगी।

लिंग वृद्धि के उपायों में कितना समय लगता है?

सबसे अच्छे नतीजे पाने के लिए कम से कम 3 से 6 महीने देने होते हैं। हर आदमी में लिंग की एक्सर्साइजों की सफलता अलग-अलग हो सकती है, किसी को बहुत फायदा हो सकता और उनका लिंग कुछ हफ्तों में ही महसूस करने लायक बढ़त हासिल कर लेता है, वहीं कुछ लोगों को इसमें ज्यादा समय लगता है।

यदि आपको जल्दी नतीजे नहीं भी मिलें तो हार न मानें, हर लिंग अलग होता है।

आज की रणनीतियाँ, एक्सर्साइज़ और लिंग बढ़ाने के तरीके बहुत आधुनिक हैं और इन्हें हजारों लोग आजमा कर देख चुके हैं। इनका इस्तेमाल करके लोगों ने बड़ा लिंग पाने में सफलता पाई है और इसलिए यह केवल समय और आनुवांशिक बनावट पर निर्भर करता है।

लिंग बड़ा करने के सबसे अच्छे तरीके कौन से हैं

लिंग के साइज़ को लेकर आपकी चिंताओं का सटीक हल कई बार सिर्फ अपनी प्रेमिका से अच्छे से बात करने से भी मिल सकता है। यदि आपका लिंग औसत से छोटा हो तो भी इससे आपकी प्रेमिका को ज़्यादा फर्क नहीं पड़ता।

यदि अपनी पार्टनर से बात-चीत करने से भी फायदा नहीं हो रहा हो तो अपनी सेक्स समस्याओं के बारे में किसी अनुभवी सलाहकार से बात करें।

कुछ विशेषज्ञ लिंग बड़ा करने के बिना ऑपरेशन वाले तरीकों की सलाह देते हैं जैसे पीनस पंप और पीनस एक्सटेंडर का उपयोग, और साथ में लिंग बड़ा करने की औषधियाँ और सप्लीमेंट लेना। जैसा पहले बताया गया है, लिंग बड़ा करने के लिए ऑपरेशन आखिरी विकल्प ही होना चाहिए क्योंकि यह मंहगा और खर्चीला होता है।

इस लेख को अपने दोस्तों से शेयर करना न भूलें ताकि वे भी लिंग बड़ा करने के उपायों के बारे में पूरी जानकारी पा सकें। आप नीचे अपनी कमेंट्स और सुझाव भी शेयर कर सकते हैं।
लिंग बड़ा करने के ट्रीटमेंट – लिंग साइज़ बढ़ाने के सबसे बढ़िया तरीका (अपने लंड का मनचाहा साइज़ पाएँ!)
3.8 (76%) 10 votes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *