एक्सर्साइज़ करके प्राकृतिक तरीके से लिंग बड़ा कैसे करें

By | May 7, 2018

Contents

एक्सर्साइज़ करके प्राकृतिक तरीके से लिंग बड़ा कैसे करें

About DR. RICHA AHUJA

Physical Health And Behavioural Sciences

हैलो, मैं हूँ राहुल,

सबसे पहले मैं जॉन कॉलिन्स को उनकी गाइड “पीनस एनलार्जमेंट बाइबल” के लिए धन्यवाद कहना चाहूँगा। मैंने हैल्थ फोरमों में लिंग की कई एक्सर्साइज़ देखी हैं जिनकी मदद से एक या दो साल में वांछित लिंग साइज़ प्राप्त हो जाता है। लेकिन चूंकि मेरी 6 महीने में शादी होने वाली है और मेरा लिंग सिर्फ 5 सेमी का है, मैं अच्छे से जानता हूँ कि मैं अपनी होने वाली बीवी को संतुष्ट नहीं कर पाऊँगा। यही कारण है कि मैं लिंग के व्यायामों को उतना महत्व नहीं मानता था।

लेकिन पीनस एनलार्जमेंट बाइबल विडियो देखने के बाद मैंने जॉन कॉलिन्स से बात की जिन्होने तेजी से लिंग बड़ा करने के लिए मुझे अपने 2-स्टेप तरीके को लिंग की एक्सर्साइजों के साथ आजमाने की सलाह दी। मुझे उनकी सलाह इतनी पसंद आई कि मैंने इसे आजमाने का फैसला कर लिया।

मात्र 3 महीने के अंदर मेरा लिंग 2.5 इंच बड़ा हो गया और अब मेरा लंड 7.5 सेमी का है और साथ ही मेरा झड़ने पर भी जबर्दस्त कंट्रोल है।

यदि आप भी ऐसे ही नतीजे चाह रहे हों तो मैं आपको जॉन कॉलिन्स पीनस एनलार्जमेंट बाइबल वीडियो देखने की सलाह दूँगा जिसमें बताया गया है कि यह 2-स्टेप तरीका कैसे काम करता है।

जब मैंने जॉन कॉलिन्स के तरीके के साथ नीचे बताई एक्सर्साइजें कीं तो मेरा लिंग 3 महीने में 2.5 इंच बढ़ गया। (आपको ये एक्सर्साइज़ पीनस एनलार्ज़मेंट बाइबल में भी मिलेंगी।)

आपको कई लोग ऊपर से बहुत खुश नज़र आएंगे लेकिन इनमें से अधिकतर अपने लिंग के साइज़ को लेकर असंतुष्ट रहते हैं और एक बड़ा लिंग पाने के तरीके खोजते रहते हैं। चूंकि यह एक बहुत संवेदनशील मुद्दा है, इसलिए आपको ऐसा लगता है कि आपका ही लिंग सबसे छोटा है (औसत 6 इंच से कम)।

मैंने लिंग कैसे बढ़ाएँ नाम की यह गाइड काफी शोध करने के बाद बनाई है क्योंकि एक समय मैं आपके जैसी स्थिति में ही था। मैं हमेशा सोचा करता था कि मेरा लिंग किशोरवस्था में बड़ा हो जाएगा लेकिन वो छोटा ही रहा और तब बढ़ा भी होगा तो ज़्यादा लंबाई नहीं बढ़ पाई थी। चूंकि मेरा बजट टाइट है, इसलिए ऑपरेशन तो मेरी पहुँच से बाहर ही है। दूसरा, लिंग बड़ा करने की दवाइयों के बारे में फोरम्स और डिस्कशन बोर्ड्स में नकारात्मक प्रतिक्रियाएँ पढ़कर मुझे ऑपरेशन से बड़ा डर लगता है।

एक्सर्साइज़ करके प्राकृतिक तरीके से लिंग बड़ा कैसे करें

मैंने लिंग बड़ा करने के बारे में अपना शोध तब शुरू किया था जब मुझे कहीं सुनने में आया था कि कुछ लोगों ने ऐसी एक्सर्साइजें करके अपना लिंग 2 सेमी बड़ा कर लिया था। मेरी शोध के दौरान मुझे पता चला कि कई एक्सर्साइज़ शुरुआती स्तर पर अच्छी होती हैं और कुछ एक्सर्साइज़ थोड़ी प्रैक्टिस हो जाने के बाद ही करनी चाहिए। एडवांस्ड एक्सर्साइजें अधिकतर टेढ़े लिंग को सीधा करने के लिए, शीघ्रपतन और खड़े होने में समस्याएँ (इरेक्टाइल डिसफंक्शन) ठीक करने के लिए उपयोग की जाती है। सौभाग्य से मुझे तो ऐसी कोई समस्याएँ नहीं है लेकिन मैने बेसिक एक्सर्साइज़ करना शुरू कर दिया है क्योंकि मैं अपना लिंग बड़ा करना चाहता हूँ।

आप माने या न मानें, मेरा लिंग 3 महीने में ही 1.6 इंच बढ़ गया था।

हाँ, इन एक्सर्साइज़ को शुरू करते समय मेरा लिंग करीब 5 इंच था लेकिन अब पूरे 6.8 इंच का है। चूंकि ये काफी अच्छे नतीजे हैं, यही कारण है कि मैंने यह गाइड ऑनलाइन पोस्ट करके यह देखने का फैसला किया कि आप जैसे लोगों की कैसी प्रतिक्रियाएँ आती हैं। आपको बताना चाहूँगा कि लिंग बड़ा करने की एक्सर्साइज़ को साइज़ बढ़ाने का सबसे सुरक्षित और सबसे बेहतरीन तरीका माना जाता है और साथ ही आपको इन्हें शुरू करने के लिए मंहगी मशीनों की भी जरूरत नहीं होगी।

मैंने यह लिंग कैसे बड़ा करें गाइड बहुत सरल तरीके में बनाई है। शुरुआत में तो मैं आपको बताऊँगा कि आप अपने लिंग को ठीक से कैसे माप सकते हैं और फिर मैं आपको बताऊंगा कि आप सुरक्षित रहकर भी अच्छे नतीजे कैसे पा सकते हैं। इसके बाद मैं आपको लिंग बड़ा करने की तीन एक्सर्साइज़ बताऊंगा।

मैं आपको अपनी एक्सर्साइज़ दिनचर्या बताऊंगा।

चलिए, शुरू करते हैं…

अपने लिंग का साइज़ कैसे नापें:

सच तो यह है कि अधिकतर लोगों को यही पता नहीं होता कि लिंग को ठीक से नापते कैसे हैं। अपने लिंग को नापने के सही तरीके की जानकारी होना बहुत महत्वपूर्ण होता है क्योंकि इससे आप भविष्य में अपनी प्रगति को माप सकेंगे। अपने लिंग को नापने के लिए हम सलाह देते हैं कि आप कपड़े नापने वाले टेप का उपयोग करें लेकिन आप किसी स्केल या धागे से भी लिंग माप सकते हैं।

शिथिल लंबाई:

शिथिल लंबाई के साथ सबसे बड़ी समस्या यह होती है कि यह हर घंटे में बदल सकती है। आपके लिंग की शिथिल लंबाई में फर्क आने के कई कारण हो सकते हैं, जिनमें तापमान भी एक होता है। हम सलाह देते हैं कि आप शिथिल लंबाई नापने के मानक तरीके का उपयोग करें जिसमें लंबाई साइड से मापी जाती है।

सीधे खड़े हो जाएँ और लिंग को अपने एक हाथ से सामने की ओर उठा लें (ध्यान रखें कि इसे खींचना नहीं है) और दूसरे हाथ से नापने वाले टेप को लिंग की साइड में रखें। अपने लिंग की लंबाई देखें और किसी कागज पर नोट कर लें।

खड़ी अवस्था में लंबाई:

खड़ी अवस्था में लंबाई सबसे महत्वपूर्ण होती है क्योंकि अधिकतर लोगों को खड़े लिंग की लंबाई में ही दिलचस्पी होती है। खड़ी दशा में लंबाई मापने के लिए आपको पहले 100% खड़ा करना होगा (इसके लिए ब्लू फिल्म न देखें)। अब अपने लिंग के साइड में टेप रखकर इंच या सेंटीमीटर माप लें। अपनी प्रगति के दौरान माप की एक ही इकाई उपयोग करें।

खड़ी दशा में मोटाई:

खड़ी दशा में मोटाई भी कई चीजों पर निर्भर करती है। अपने लिंग की खड़ी दशा में मोटाई मापने के लिए आपको मापने का टेप या धागे का (इसे स्केल पर रखकर) उपयोग करना होगा। खड़े लिंग की लंबाई सबके लिए अलग होती है क्योंकि सब इसे अपने तरीके से मापते हैं। हम सलाह देते हैं कि आप अपने खड़े लिंग की मोटाई उसके बीचों-बीच मापें। इससे आपको सही माप मिलेगा।

सीधे खड़े हो जाएँ और सुनिश्चित कर लें कि आपका लिंग 100% खड़ा हो गया है। अब लिंग के चारों ओर मापने का टेप लपेटें। ध्यान दें कि आपको टेप को बहुत टाइट नहीं लपेटना है, बस थोड़ा खींच कर टाइट कर लें और मोटाई नोट कर लें

शिथिल अवस्था में मोटाई:

शिथिल अवस्था में मोटाई मापना थोड़ा अजीब लग सकता है क्योंकि हर आदमी इसे अपने तरीके से अलग-अलग जगह पर मापता है। इसका भी सही तरीका यही है कि आप मोटाई को बीचों-बीच मापें। सीधे खड़े हो जाएँ और अपने लिंग को एक हाथ से सीधा पकड़ कर दूसरे हाथ से लिंग के बीचों-बीच टेप लपेट दें। माप देखकर कागज पर नोट कर लें।

FREE Fast Shipping offer for our readers:
एक्सर्साइज़ करके प्राकृतिक तरीके से लिंग बड़ा कैसे करें

  • पहले और दूसरे सप्ताह में:
    कड़ापन लम्बे समय के लिए कठोर बन जाता है, लिंग की संवेदनशीलता २ गुना तक बढ़ जाती है. परिणाम नज़र आने लगते हैं – क्योंकि आपके लिंग का आकार १.५ सेमी. तक बढ़ चुका होता है.1
  • दूसरे और तीसरे सप्ताह में:
    पहले से आपके लिंग में आकार वृद्धि दर्शित होने लगती है, यह संरचनात्मक रूप से एकदम सटीक बन जाता है. सम्भोग का समय ७०% तक बढ़ जाता है!2
  • चौथे सप्ताह में और उससे आगे:
    लिंग ४ सेमी. तक बढ़ जाता है! सम्भोग का आनंद पहले से और भी अच्छा हो जाता है. ओर्गेज़्म लम्बे समय के होते हैं जो कि ५-७ मिनट तक चल

एक्सर्साइज़ करके प्राकृतिक तरीके से लिंग बड़ा कैसे करें

अपनी लिंग की एक्सर्साइज़ शुरू करने के सही समय का चुनाव करते समय याद रखने वाली कुछ बातें:

लिंग बड़ा करने के व्यायाम शुरू करने से पहले कुछ चीजों का ध्यान रखना जरूरी है।

चिकनाई:

लिंग बड़ा करने की किसी भी एक्सर्साइज़ का सबसे पहला और संभवतः सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा होता है लुब्रिकेशन या चिकनाई। यही नहीं, आपको ऐसा लुब्रिकेंट उपयोग करना चाहिए जो आपको सुविधाजनक लगता हो। लिंग बड़ा करने वाले मंहगे तेल खरीदने की कोई जरूरत नहीं है। इनमें से अधिकतर तेल केवल सामान्य तेलों का मिश्रण होते हैं।

आपको ऐसा लुब्रिकेंट चुनना चाहिए जो जल्दी सूखता नहीं हो। यह आवश्यक है कि आपके लिंग पर एक्सर्साइज़ करते समय चिकनाई बनी रहे। यदि आपके घर में वैसलीन हो तो आप इसे भी चिकनाई के लिए उपयोग कर सकते हैं। कुछ लोग बड़े लिंग के लिए बेबी लोशन लगा लेते हैं लेकिन हम ऐसा नहीं करने की सलाह देंगे क्योंकि इनमें से अधिकतर में ऐसे पदार्थ होते हैं जिनसे खुजली या लाल धब्बे उभर सकते हैं।

झांटें:

लिंग की एक्सर्साइज़ शुरू करने से पहले झांटें काट लेना बहुत जरूरी होता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि झांटों से एक्सर्साइज़ में दर्द हो सकता है। झांटों को काट लेने से आपका लिंग वैसे भी बड़ा लगने लगेगा।

वार्म-अप करना:

वार्म-अप एक्सर्साइज़ बहुत जरूरी होती है क्योंकि इससे लिंग के ऊतक गर्म हो जाते हैं और चोट लगने का खतरा कम हो जाता है। करीब 8 मिनट की वार्मिंग-अप पर्याप्त होती है और हम किसी भी तरह की लिंग बढ़ाने की एक्सर्साइज़ शुरू करने से पहले वार्म-अप करने की सलाह देंगे।

वार्मिंग-अप एक्सर्साइज़ शुरू करने के लिए के छोटी टॉवल या बड़ा कपड़ा ले लें और इसे गर्म पानी में भिगो लें। अब टॉवल से अधिक पानी निचोड़ दें। गर्म कपड़े को अपने लिंग और अंडकोषों पर लपेट लें। 2 मिनट तक पकड़े रहें और फिर कपड़ा हटाकर पूरी प्रक्रिया दो मिनट और करें। आपको इस प्रक्रिया को 3 बार करके लिंग और अंडकोषों को पोंछ कर सुखा लें।

वार्मिंग-डाउन:

चोट लगने का खतरा कम करने के लिए वार्मिंग-डाउन करना भी जरूरी होता है। वार्मिंग डाउन एक्सर्साइज़ में ज़्यादा समय नहीं लगता क्योंकि आपको बस अपने लिंग को शिथिल अवस्था में 2-3 मिनट तक मसाज करना होता है। कुछ लोग लिंग को वार्म-डाउन करने के लिए भी लिंग बड़ा करने की कुछ एक्सर्साइजों का उपयोग करते हैं।

एक्सर्साइज़ करके प्राकृतिक तरीके से लिंग बड़ा कैसे करें

लिंग बड़ा करने की एक्सर्साइज़:

पहले मीडिया, डॉक्टर और विशेषज्ञ लिंग बढ़ाने की एक्सर्साइज़ को लिंग बड़ा करने का असली तरीका नहीं मानते थे लेकिन कई सकारात्मक प्रतिक्रियाएँ आने के बाद मीडिया ने इन एक्सर्साइजों पर ध्यान केन्द्रित करना शुरू कर दिया था और आज विशेषज्ञ अपने खुद के हिसाब से बनाई गई खास एक्सर्साइज़ भी सुझाते हैं।

आजकल लिंग बड़ा करने के कुछ ही प्रोग्राम हैं जो साइज़ बढ़ाने के असली और वैध तरीके हैं। ऐसा ही एक प्रोग्राम है जॉन कॉलिन्स पीनस एनलार्जमेंट बाइबल, जो आपको लिंग की बढ़त शुरू करने का एक 2-स्टेप तरीका बताएगी। दुर्भाग्य यह है कि लिंग बड़ा करने के मार्केट में कई कंपनियाँ कूद पड़ी हैं जो सिर्फ नकली कॉपी बनाकर कुछ पैसे कमाना चाहती हैं। लिंग बड़ा करने की एक्सर्साइजों के ये प्लान सिर्फ कॉपी-पेस्ट हैं और इनसे कोई फायदा नहीं होता क्योंकि इन्हें जिन लोगों ने बनाया है उन्हें लिंग की एक्सर्साइज़ के बारे में कुछ पता ही नहीं होता।

यही कारण है कि हमने अपनी खुद की रिसर्च की, कुछ प्रोग्राम डाउनलोड किए और यह निष्कर्ष निकाला कि सिर्फ तीन ऐसी एक्सर्साइज़ हैं जो उपयोगी हैं। बाकी सारी एक्सर्साइजें या तो बेअसर हैं या ये इन तीन एक्सर्साइज़ का ही कोई दूसरा रूप हैं।

चलिए लिंग बड़ा करने की इन तीन एक्सर्साइज़ पर एक नज़र डालते हैं।

पीसी मसल एक्सर्साइज़/केगेल एक्सर्साइज़:

पीसी मसल एक्सर्साइज़ बहुत असरदार होती है क्योंकि इससे लिंग की लंबाई और मोटाई दोनों बढ़ जाते हैं। पीसी मसल एक्सर्साइज़ से स्खलन पर भी पूरा नियंत्रण आता है। इस एक्सर्साइज़ से आपका लिंग न सिर्फ लंबाई में बढ़ जाएगा, वह मोटा भी होगा।

ऐसे कई लोग हैं जो शीघ्रपतन की समस्या से निपटने के लिए पीसी मसल एक्सर्साइज़ करते हैं। कुछ विशेषज्ञों के अनुसार पीसी मसल एक्सर्साइजों से लिंग दिखने में भी अच्छा लगने लगता है। सम्पूर्ण दृष्टि से देखा जाए तो पीसी एक्सर्साइजों के कई अच्छे लाभ होते हैं।

इसे कैसे करें?

पीसी मसल एक्सर्साइज़ करने का पहला चरण होता है अपनी पीसी मसल को ढूँढना। शुरुआत कर रहे लोगों के लिए पीसी मसल को ढूँढना थोड़ा मुश्किल होता है क्योंकि यह गुदाद्वार और अंडकोषों के बीच स्थित होती है।

पीसी मसल ढूँढने के लिए बाथरूम में जाएँ और पेशाब करना शुरू करें। पेशाब करते हुए बीच में रुक जाएँ और इसे करने में जो मसल खिंचती है वही पीसी मसल होती है। पीसी मसल ढूँढने का एक और तरीका होता है लिंग को खड़ा करके अपने लिंग को बिना हाथ लगाए दाएँ-बाएँ हिलाने की कोशिश करना। ऐसा करने में आपकी जो मसल उपयोग होती है वही पीसी मसल है।

पीसी मसल एक्सर्साइज़ 1 – भींचना और रिलैक्स करना:

यह लिंग बड़ा करने की एक सरल लेकिन बहुत असरदार एक्सर्साइज़ है। इस एक्सर्साइज़ का एकमात्र उद्देश्य है खड़े होने पर लिंग की ओर रक्त प्रवाह बढ़ा देना। आपके लिंग में जितना ज़्यादा रक्त जाएगा, वह उतना ही ज़्यादा कड़ा होगा। इस एक्सर्साइज़ में ज़्यादा समय भी नहीं लगता क्योंकि आपको बस पीसी मसल को भींच कर उसे तुरंत छोड़ देना होता है।

विशेषज्ञ भींचने और रिलैक्स करने की कोई संख्या तो नहीं सुझाते लेकिन हमारी शोध के अनुसार हर व्यक्ति को 24 सेट करने चाहिए। शुरुआत में आप 24 बार भींचने और रिलैक्स करने को एक सेट मान कर 5 सेट करें और हर सेट के बीच 2-5 सेकंड के लिए रुकें। यदि आपको यह बहुत कठिन लगता हो तो 16 बार से शुरू करें और धीरे-धीरे क्षमता बढ़ाते जाएँ।

पीसी मसल एक्सर्साइज़ 2 – साँस लेना और भींचना

हमने पिछले खंड में भींचने और रिलैक्स करने की जो एक्सर्साइज़ देखीं। इस खंड में बताई एक्सर्साइज़ में आप भींचने के साथ अपने श्वसन को भी जोड़ते हैं। इस एक्सर्साइज़ को शुरू करने के लिए आपको पहले रिलैक्स करके यह सुनिश्चित करना होगा कि आप आसानी से साँस लें और छोड़ें।

अपनी पीसी मसल्स को धीरे-धीरे भींचना शुरू करें और तब तक भींचते जाएँ जब तक सबसे गहरे बिन्दु तक न पहुँच जाएँ और इससे आगे जाना संभव न हो। अब अपनी साँस खींचकर 20 तक गिनती करें। एक बार 20 तक गिनने के बाद अपनी पीसी मसल को रिलीज़ कर दें। इसे 20 सेकंड से शुरू करके एक मिनट तक पहुँचाने की कोशिश करें।

पीसी मसल एक्सर्साइज़ 3 – क्लाइम्ब द हिल

इस एक्सर्साइज़ से आपकी पीसी मसल एक्सर्साइज़ की तीव्रता बढ़ जाएगी। अपनी पीसी मसल को हल्के से पकड़ कर शुरू करें और 5 सेकंड तक रुकें और हर बार पहले से थोड़ा ज़ोर से भींचें।

एक बार पीसी मसल को सबसे ज़ोर से खींचने की क्षमता पर पहुँच जाने के बाद 5 मिनट रुकें और दोबारा फिर से शुरू करें।

पीसी मसल एक्सर्साइज़ 4 – टाइडल वेव

टाइडल वेव थोड़ी अलग तरह की एक्सर्साइज़ है क्योंकि इसमें आपको हल्के से भींच कर शुरू करना होता है लेकिन मसल को रिलीज़ करने की जगह इसमें आपको तीव्रता धीरे-धीरे बढ़ानी होती है। यह एक बार में 3 से 4 मिनट तक करते रहें और फिर उस बिन्दु पर 30 सेकंड और भींच कर रखें जब आपके लिए और भींचे रहना संभव न हो। पीसी मसल की इन एक्सर्साइज़ के बारे में सबसे बढ़िया बात यह होती है कि आप इन्हें कहीं भी कर सकते हैं और इनके लिए लिंग पर चिकनाई लगाना भी जरूरी नहीं होता।

लिंग की स्ट्रेचिंग एक्सर्साइजें

स्ट्रेचिंग एक्सर्साइज़ भी लिंग बड़ा करने की अन्य महत्वपूर्ण एक्सर्साइज़ हैं। यह एक बहुत अच्छी एक्सर्साइज़ है क्योंकि इससे लिंग की लंबाई बढ़ जाती है। यह समझना बहुत जरूरी है कि लिंग स्ट्रेचिंग करने की एक्सर्साइज़ से मोटाई पर कोई असर नहीं होता।

इस एक्सर्साइज़ को करने से पहले सुनिश्चित कर लें कि आपने अपने लिंग पर ठीक से चिकनाई लगाई है। इस एक्सर्साइज़ को हमेशा बहुत सावधानी से करें क्योंकि एक गलती से दर्द और जलन शुरू हो सकते हैं। हमने अपने खुद के शोध में पाया है कि लिंग स्ट्रेचिंग करने के दो सबसे असरदार तरीके होते हैं। ये दो तरीके निम्नानुसार हैं:

ट्वर्ल मेथड

इस तरीके में आपको अपने बाएँ हाथ की तर्जनी और अंगूठे से एक ‘ओ’ शब्द का संकेत बनाकर उसे लिंग के मुंड पर रखना है (ठीक लिंग के शीर्ष के ऊपर)। अब, धीरे-धीरे अपने लिंग को दाएँ, बाएँ, ऊपर और नीचे हल्के से हिलाएँ। अब लिंग को घड़ी की दिशा में 5 बार और घड़ी की उलटी दिशा में 5 बार घुमाएँ।

पुल एंड स्लैप मेथड

यह ट्वर्ल मेथड से थोड़ी अलग है। इस तरीके में आप बाएँ हाथ की तर्जनी और अंगूठे से “ओ” का संकेत बनाकर लिंग के मुंड (लिंग के शीर्ष के ठीक नीचे) को पकड़ लेते हैं। अपने लिंग को दाएँ, बाएँ, ऊपर और नीचे की पोजीशन में हिलाने के बाद 20 सेकंड तक इंतज़ार करें और लिंग को बाएँ पैर पर 15 बार और दाएँ पैर पर 15 बार थपथपाएँ।

[एड्वान्स्ड] ट्वर्ल एंड स्लैप मेथड:

यह पिछले दोनों तरीकों की आगे की कड़ी है। चूंकि यह एक एड्वान्स्ड एक्सर्साइज़ है, इसलिए मैं चाहता हूँ कि आप इस एक्सर्साइज़ को करने के पहले ऊपर बताई एक्सर्साइज़ अलग से ट्राय कर लें।

इस एक्सर्साइज़ में आपको अपने लिंग को “ओ” का संकेत बनाकर पकड़ना है और फिर दाएँ, बाएँ, ऊपर और नीचे हिलाना है। अब अपने लिंग को घड़ी की दिशा और घड़ी की उलटी दिशा में 15-15 बार घुमाएँ। इसके बाद लिंग को बाएँ और दाएँ पैर पर 30-30 बार थपथपाएँ। इतना करने से एक सेट पूरा हो जाएगा।

जेल्क़िंग:

जेल्क़िंग भी लिंग बड़ा करने का एक लोकप्रिय तरीका है। इस एक्सर्साइज़ को ‘मिल्किंग’ भी कहा जाता है क्योंकि यह गाय का दूध निकालने से मिलती जुलती है। यह एक्सर्साइज़ बहुत असरदार है और इसलिए विशेषज्ञों के बीच चर्चा का विषय रहती है। ऐसा कोई लिंग बड़ा करने का प्लान नहीं होता जिसमें इस एक्सर्साइज़ की बात नहीं होती। यहाँ तक कि एक्सटेंडर, पीनस पंप और दवाइयों के विक्रेता भी थोड़ी जेल्क़िंग एक्सर्साइज़ की सलाह देते हैं।

जेल्क़िंग से लंबाई में बढ़त एक्सर्साइज़ बंद करने के बाद भी बनी रहती है। यह महत्वपूर्ण है कि इस एक्सर्साइज़ को ठीक से किया जाए और यह भी ध्यान रखें कि इसे शुरू करने से पहले हर बार लिंग पर अच्छे से चिकनाई लगी होनी चाहिए। आपको कोई भी जेल्क़िंग एक्सर्साइज़ करने से पहले वार्म-अप करना होगा। हालांकि कई विशेषज्ञ जेल्क़िंग एक्सर्साइज़ के विभिन्न प्रकार सुझाते हैं लेकिन हमारे शोध कर अनुसार वेट जेल्क़िंग (गीली जेल्क़िंग) और ड्राय जेल्क़िंग (सूखी जेल्क़िंग) सबसे असरदार हैं।

एक्सर्साइज़ करके प्राकृतिक तरीके से लिंग बड़ा कैसे करें

वेट जेल्क़िंग

इस एक्सर्साइज़ को ‘वेट मिल्किंग’ भी कहा जाता है क्योंकि आपको इसे शुरू करने से पहले अपने लिंग पर लुब्रिकेंट लगाना होता है। यदि एक्सर्साइज़ के बीच में आपका लिंग सूख जाए तो एक्सर्साइज़ बंद करके फिर से लुब्रिकेंट लगा लें।

वेट जेल्क़िंग करने के लिए अपने बाएँ हाथ की तर्जनी और अँगूठे से “ओ” का संकेत बनाकर इससे लिंग का निचला हिस्सा पकड़ लें। अब अपने दाएँ हाथ से लिंग को आगे लाकर बाईं हथेली को बाहर की दिशा (शरीर से बाहर) में रखते हुए बाएँ हाथ को लिंग पर नीचे से ऊपर की ओर ले जाएँ लेकिन खिसकाएँ नहीं।

वेट जेल्क़िंग लिंग 50-70% खड़ा होने पर करें। यदि आपका 100% खड़ा हो तो इस एक्सर्साइज़ को कुछ मिनट करना बंद कर दें और अपने लिंग को फिर से 50-70% तक खड़ा कर लें। ऐसा भी हो सकता है कि आपकी झड़ाने की इच्छा होने लगे लेकिन अच्छे नतीजे पाने के लिए रोके रखना बेहतर होता है।

ड्राय जेल्क़िंग

यह बहुत कुछ वेट मिल्किंग जैसी ही होती है लेकिन इस एक्सर्साइज़ में आपको लिंग पर लुब्रिकेंट नहीं लगाना होता। इसका अर्थ यह है कि आपको एक्सर्साइज़ के बाद लिंग साफ नहीं करना होगा। लिंग की एक्सर्साइज़ करने वाले कई लोग ड्राय जेल्क़िंग की सलाह देते हैं क्योंकि इसमें वेट जेल्क़िंग जैसे ही नतीजे मिलते हैं। लेकिन यह जरूरी होता है कि आप ड्राय जेल्क़िंग के पहले अच्छे से वार्म-अप कर लें और लिंग की स्ट्रेचिंग करें। जेल्क़िंग वर्कआउट रूटीन का एक छोटा उदाहरण नीचे बताया गया है:

  •         वार्म-अप – 5 मिनट
  •         लिंग की स्ट्रेचिंग – 5 मिनट
  •         बेसिक जेल्क़ – 10 मिनट
  •         वार्म-डाउन – 5 मिनट

लिंग बड़ा करने की एक्सर्साइज़ रूटीन:

पहले हफ्ते में आपको इन एक्सर्साइज़ को नियमित रूप से करने की आदत डालनी होगी। इन एक्सर्साइज़ को रोज नहीं करना होता। कुछ विशेषज्ञ यह सलाह देते हैं कि आप इन एक्सर्साइज़ को हफ्ते में केवल 4 दिन करें और हर वर्कआउट वाले दिन के बीच एक आराम का दिन रखें।

यह बहुत आवश्यक होता है कि इन एक्सर्साइज़ को सावधानी से किया जाए ताकि चोट न लगे। यदि आप ये एक्सर्साइज़ करते हैं तो आपको 6 हफ्तों के अंदर नतीजे मिल सकते हैं और यदि आप नतीजे जल्दी पाना चाहते हैं तो इन्हें जॉन कॉलिन्स पीनस एनलार्ज़मेंट बाइबल के साथ करें।

पीनस एनलार्ज़मेंट बाइबल के अंदर जॉन कॉलिन्स आपको एक सरल 2-स्टेप तरीका बताएँगे जिससे आप लिंग की बढ़त के लिए उचित पर्यावरण निर्मित कर सकेंगे। और यदि आप इन तीन एक्सर्साइज़ को करना जारी रखेंगे तो आपका लिंग मात्र 20-30 दिन में 1-2 इंच लंबा हो जाएगा।

एक्सर्साइज़ करके प्राकृतिक तरीके से लिंग बड़ा कैसे करें

एक्सर्साइज़ करके प्राकृतिक तरीके से लिंग बड़ा कैसे करें

एक्सर्साइज़ करके प्राकृतिक तरीके से लिंग बड़ा कैसे करें

एक्सर्साइज़ करके प्राकृतिक तरीके से लिंग बड़ा कैसे करें
3.6 (71.11%) 9 votes

संबंधित पोस्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *